धर्मांतरण प्रकरण: संसद में पीएम के बयान की मांग पर अड़ा विपक्ष

धर्मांतरण मुद्दे को लेकर राज्यसभा में विपक्ष ने लगातार तीसरे दिन बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जवाब की मांग करते हुए कामकाज बाधित किया। सांप्रदायिक हिंसा पर चर्चा का प्रधानमंत्री द्वारा जवाब देने की मांग को लेकर विपक्ष के हंगामे के कारण आज राज्यसभा की कार्यवाही दोपहर 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई। उधर, सीबीआई के दुरुपयोग का आरोप लगाते हुए तृणमूल कांग्रेस के काली पट्टी लगाए सांसदों ने लोकसभा से आज वाकआउट किया।

धर्मांतरण प्रकरण: संसद में पीएम के बयान की मांग पर अड़ा विपक्ष

नई दिल्‍ली : धर्मांतरण मुद्दे को लेकर राज्यसभा में विपक्ष ने लगातार तीसरे दिन बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जवाब की मांग करते हुए कामकाज बाधित किया। सांप्रदायिक हिंसा पर चर्चा का प्रधानमंत्री द्वारा जवाब देने की मांग को लेकर विपक्ष के हंगामे के कारण आज राज्यसभा की कार्यवाही दोपहर 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई। उधर, सीबीआई के दुरुपयोग का आरोप लगाते हुए तृणमूल कांग्रेस के काली पट्टी लगाए सांसदों ने लोकसभा से आज वाकआउट किया।

कांग्रेस के सांसदों, वामदलों और अन्‍य विपक्षी दलों ने भी आज पीएम के बयान की मांग को लेकर संसद में हंगामा किया। वाम नेता सीताराम येचुरी ने कहा कि धर्मांतरण एक गंभीर मामला है और पीएम को इस विषय बयान देकर मामले को स्‍पष्‍ट करना चाहिए। वहीं, कांग्रेस के प्रमोद तिवारी ने भी यही मांग दोहराई।  

गौर हो कि जबरन धर्मान्तरण के मुद्दे पर राज्यसभा में विपक्ष के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जवाब की मांग पर अड़े रहने के कारण सदन की कार्यवाही मंगलवार को भी बाधित रही तथा हंगामे के कारण कई बार के स्थगन के बाद बैठक को पूरे दिन के लिए स्थगित कर दिया गया था।