कोरोना का कहर: ईरान में फंसे 277 भारतीयों को एयरलिफ्ट कर जोधपुर पहुंचे दो विशेष विमान

 ईरान कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों में रहा है. 

कोरोना का कहर: ईरान में फंसे 277 भारतीयों को एयरलिफ्ट कर जोधपुर पहुंचे दो विशेष विमान
ईरान कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों में रहा है.

जोधपुर: ईरान (Iran) में फंसे 277 भारतीयों दो विशेष विमानों में जोधपुर (Jodhpur) लाया गया है. इन यात्रियों को आर्मी सुविधाओं के बीच क्वारंटीन किया जाएगा. डॉक्टरों की विशेष टीम ने एयरपोर्ट पर यात्रियों की स्क्रीनिंग की है. 

बता दें ईरान कोरोना वायरस (Coronavirus) से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों में रहा है. हालांकि यहां हालात अब कुछ बेहतर होते नजर आ रहे हैं. वायरस से संक्रमित कुल मामलों की संख्या अब भी 20,610 है. समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, शनिवार को स्वास्थ्य और चिकित्सा शिक्षा मंत्रालय ने कहा कि कोरोनवायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 1,556 हो गई, वहीं ठीक हुए लोगों की संख्या बढ़कर 7,635 हो गई है.

यहां की राज्य टीवी ने स्वास्थ्य मंत्री अलिर्जा राईसी के हवाले से बताया है कि लगभग सभी प्रांतों में कोरोना प्रकोप में कमी आई है, जिसमें तेहरान और मजंदरन भी शामिल हैं. ईरान के इन दोनों शहरों में कोरोना ने सबसे ज्यादा कहर बरपाया था.

भारत में 21 दिन का लॉडाउन 
बता दें इससे पहले पीएम मोदी ने मंगलवार रात 8 बजे देश को संबोधित करते हुए कोरोना वायरस का मुकाबला करने के लिए देशभर में 21 दिन के लिए लॉकडाउन करने की घोषणा कर दी. 

प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में कहा, कि कोरोना वायरस का साइकिल तोड़ने के लिए यह 21 दिन जरूरी हैं. अगर ये 21 दिन नहीं संभले तो फिर कई परिवार तबाह हो जाएंगे. उन्होंने कहा कि इस लॉकडाउन को कर्फ्यू की तरह ही समझें.' 

पीएम मोदी ने राष्ट्र के नाम संबोधन में कहा कि हिंदुस्तान को बचाने के लिए, हर नागरिक को बचाने के लिए, आपके परिवार को बचाने के लिए घरों से बाहर निकलने पर पूरी तरह पाबंदी लगाई जा रही है. देश के हर राज्य को हर केंद्रशासित प्रदेश, गली-मुहल्ले को लॉकडाउन किया जा रहा है. यह एक तरफ से कर्फ्यू ही है. यह जनता कर्फ्यू से बढ़कर है.