चीन में एंट्री नहीं कर पाएंगे दूसरे देशों के लोग, कोरोना की वजह से ड्रैगन ने लिया ये बड़ा फैसला

कोरोना वायरस ( CoronaVirus) ने पूरी दुनिया में हड़कंप मचा रखा है. इस वायरस से बचाव के लिए चीन ने एक बड़ा फैसला लिया है और अपने देश में बाहरी लोगों पर रोक लगा दी है. 

चीन में एंट्री नहीं कर पाएंगे दूसरे देशों के लोग, कोरोना की वजह से ड्रैगन ने लिया ये बड़ा फैसला
चीन में एंट्री नहीं कर पाएंगे दूसरे देशों के लोग

बीजिंग: कोरोना वायरस ( CoronaVirus) ने पूरी दुनिया में हड़कंप मचा रखा है. इस वायरस से बचाव के लिए चीन ने एक बड़ा फैसला लिया है और अपने देश में बाहरी लोगों के आने पर रोक लगा दी है. चीन ने फॉरेन नेशनल लोगों के वीजा और रेसिडेंट परमिट कैंसल कर दिए हैं. अब चीन में एयरपोर्ट और पोर्ट दोनों के जरिए एंट्री बैन होगी. अब केवल डिप्लोमेटिक वीजा जारी होंगे. 

बता दें कि इससे पहले चीन ने कोरोना वायरस के खिलाफ भारत द्वारा उठाए जा रहे प्रयासों की तारीफ की थी. चीन ने कहा था कि कोरोना के खिलाफ भारत ये जंग जीत लेगा. 

ये भी पढ़ें- चंडीगढ़ के डॉक्टरों ने बनाया ऐसा बैग, वेंटिलेटर का बचेगा लाखों रुपए, कोरोना को मिलेगी मात

चीनी विदेश मंत्री वांग यी ने भारतीय विदेश मंत्री जयशंकर के साथ फोन पर बात की थी. वांग यी ने कहा था कि भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीनी जनता के कोविड-19 के साथ मुकाबले के नाजुक वक्त में राष्ट्रपति शी चिनफिंग को पत्र लिखकर संवेदना व्यक्त की. भारतीय पक्ष ने चीनी जनता को मदद भी दी. हम इसके आभारी हैं. 

ये भी देखें- 

वांग यी ने कहा था कि इस समय महामारी विश्व के कई क्षेत्रों में फैल रही है. भारत में पुष्ट मामले भी बढ़ गए हैं. चीनी पक्ष भारत के महामारी विरोधी कदमों और इसमें मिले स्पष्ट परिणामों की प्रशंसा करता है. विश्वास है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता जरूर इस महामारी को यथाशीघ्र ही पराजित करेगी. मैत्रीपूर्ण पड़ोसी देश होने के नाते चीन भारत के साथ महामारी के मुकाबले के अनुभवों को साझा करने और भारत को हर संभव मदद देने को तैयार है.