देश के हॉस्पिटल्स और दवा कंपनियों पर साइबर अपराधियों की नजर, इस तरह पहुंचा सकते हैं नुकसान

देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी ने इंटरपोल के कहने पर देश के सभी राज्यों को पत्र लिखकर एडवाइजरी जारी की है. 

देश के हॉस्पिटल्स और दवा कंपनियों पर साइबर अपराधियों की नजर, इस तरह पहुंचा सकते हैं नुकसान
प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली: देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी ने इंटरपोल के कहने पर देश के सभी राज्यों को पत्र लिखकर एडवाइजरी जारी की है कि कोरोना वायरस (coronavirus) की वजह से साइबर क्राइम एक्सपर्ट भारत के सभी राज्यों के हॉस्पिटल और दवा कंपनियों को मेल करके या उनके सिस्टम को हैक करके उनसे पैसा वसूल रहे हैं.

हैकर्स कंपनियों को ब्लैकमैल करके दावा कर रहे हैं कि पैसा देने के बाद ही वो अपनी कंपनी की वेबसाइट ओपन करके फाइल और दस्तावेज खोल सकते हैं. लगातार मिल रहीं इन शिकायतों के बाद ही इंटरपोल ने सीबीआई को पत्र लिखकर इसके बारे में बताया है.

ये भी पढ़ें- NBA ने की सोनिया गांधी के सुझाव की निंदा, TV पर विज्ञापनों को रोकने की कही थी बात

कोरोना वायरस से लड़ने के दौरान देशभर के तमाम अस्पताल रात दिन लगे हुए हैं और उनके मरीजों और उनकी मेडिकल हिस्ट्री का डेटा ऑनलाइन सिस्टम में होता है.

ये भी देखें- 

लिहाजा विदेशो में बैठे हैकर्स अब कोरोना वायरस का फायदा उठा रहे हैं. लेकिन सीबीआई के सूत्रों के मुताबिक उन्होंने देश के सभी राज्यों को पत्र लिखकर पहले से ही आगाह कर दिया है. 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.