Coronavirus के खिलाफ महायुद्ध, लॉकडाउन की 'लक्ष्मण रेखा' लांघेंगे तो बहुत पछताएंगे

कोरोना वायरस दुनिया में 4 स्टेज में फैला है. भारत अभी स्टेज 2 में है और स्टेज 3 में जाने का खतरा है.

Coronavirus के खिलाफ महायुद्ध, लॉकडाउन की 'लक्ष्मण रेखा' लांघेंगे तो बहुत पछताएंगे
21 दिनों के देशव्यापी लॉकडाउन का पहला दिन शुरू हो गया है...

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने 5 दिन में दूसरी बार राष्ट्र के नाम संबोधन किया. पीएम मोदी ने 21 दिनों के व्रत में कोरोना के खिलाफ सबसे बड़ी शपथ दिलाई. आज उस शपथ का पालन करने वाली तस्वीर भी उन्हीं की तरफ से आई. लॉकडाउन (Lockdown) के बाद कैबिनेट की बैठक में सोशल डिस्टेंसिंग दिखाई दी. एक मीटर के फासले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके मंत्री दिखाई दिए. पीएम मोदी ने सभी मंत्रियों को अपने-अपने विभागों के जरिए लोगों की परेशानियां दूर करने का निर्देश दिया. इसीलिए लॉकडाउन का पालन करें. भारत में कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या 562 हो गई है. 40 मरीज ठीक हो चुके हैं अब तक 9 की मौत हो चुकी है. 

कोरोना वायरस के संक्रमण को तोड़ने के लिए सरकार की ओर से किए गए 21 दिनों के देशव्यापी लॉकडाउन का पहला दिन शुरू हो गया है. सड़कों पर सन्नाटा है. हालांकि जरूरी सेवाओं से जुड़े लोग अपनी मंजिल पर जाते जरूर नजर आए. इस लॉकडाउन के बाद से ही लोगों में राशन और खाने-पीने के सामान को लेकर चिंता है. क्या मिलेगा कैसे मिलेगा कब मिलेगा मिलेगा भी या नहीं मिलेगा. ऐसे तमाम सवाल हैं जो लोगों के मन में कौंध रहे हैं. हालांकि सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन के मुताबिक दूध-दवा-सब्जी और राशन की दुकानें खुली हुई हैं. 

21 दिन के लॉकडाउन का ऐलान क्यों किया: 
कोरोना वायरस दुनिया में 4 स्टेज में फैला है. भारत अभी स्टेज 2 में है और स्टेज 3 में जाने का खतरा है. पहली स्टेज में 7 दिन तक विदेश से आने वाले लोगों के केस बढ़ने का खतरा है. दूसरी स्टेज में 14 दिन तक संक्रमण फैलने का खतरा होता है. तीसरी स्टेज में 21 दिन तक संक्रमण तेजी से बढ़ने का खतरा होता है जबकि चौथी स्टेज में कोरोना को कंट्रोल करना मुश्किल होता है. 

जानें लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर सजा:
1. आदेश का उल्लंघन करने पर 1 साल तक जेल, जुर्माना. 
2. लॉकडाउन तोड़ने पर 6 महीने जेल, 1000 रुपये का जुर्माना. 
3- गैरजरूरी काम से सड़क पर आने पर 6 महीने तक जेल, 1000 रुपये तक जुर्माना. 
4- झूठी वजह बताने पर 2 साल तक जेल. 
5- रोग फैलने/बढ़ने में भूमिका पर 6 महीने तक जेल, 1000 रु जुर्माना. 
6- अफवाह फैलाने पर 1 साल तक जेल, जुर्माना
7- धारा 144 तोडने पर 6 महीने तक जेल
8- काम में बाधा पहुंचाने पर 1 साल तक जेल, जुर्माना
9- सरकारी कर्मचारी ड्यूटी न निभाने पर 1 साल तक जेल या जुर्माना
10- सरकारी पैसों के दुरुपयोग पर 2 साल तक की जेल. 

ये भी देखें:

आपदा में आपसे उम्मीद:

1. सरकार के निर्देशों का पूरी तरह से पालन करें.
2. बेहद जरुरी होने पर ही घरों से निकलें.
3. दूसरों को घर में रहने के लिए प्रेरित करें.
4. अफवाह फैलाने वाले मैसेज फॉरवर्ड न करें.
5. जरूरत से ज़्यादा सामानों का घर में स्टॉक न करें.