'Coronavirus Indian Variant' दुनिया में सबसे खतरनाक, सालों तक नहीं भरेंगे त्रासदी के घाव

राजनीतिक रैलियां, बड़े पैमाने पर लोगों की भीड़ और कोरोना (Corona) से बचाव के नियमों का पालन न करने की वजह से भी हालात बेकाबू हुए हैं.  

'Coronavirus Indian Variant' दुनिया में सबसे खतरनाक, सालों तक नहीं भरेंगे त्रासदी के घाव
फाइल फोटो साभार: ANI

नई दिल्ली: बेल्जियम की यूनिवर्सिटी ऑफ ल्यूवेन के जाने-माने बायोलॉजिस्ट टॉम वेंसलीयर्स ने भारत में कोरोना के म्यूटेशन को लेकर ऐसा दावा किया है जो चिंता बढ़ा सकता है. वेंसलीयर्स के मुताबिक भारत में तबाही मचाने वाला कोरोना का नया वेरिएंट (coronavirus new variant) दुनिया का सबसे संक्रामक म्यूटेशन हो सकता है. 

ये स्ट्रेन ज्यादा खतरनाक 
बता दें, वेंसलीयर्स ही वो वैज्ञानिक हैं जिन्होंने सबसे पहले यूके वेरिएंट के बारे में जानकारी दी थी, उन्होंने ही बताया था कि ये वेरिएंट ज्यादा खतरनाक है. अमेरिका के रेडियो नेटवर्क NPR को दिए एक इंटरव्यू में वेंसलीयर्स ने कहा, 'भारत का नया वेरिएंट बेहद संक्रामक है. ये बड़ी तेजी से फैल सकता है.' इसकी स्वरूप बदलने की क्षमता लगभग यूके वेरिएंट जैसा ही है. उन्होंने कहा कि वायरस का ये स्वरूप संक्रमण को बढ़ाएगा. 

फरवरी से लेकर मार्च के बीच बिगड़े हालात
वेंसलीयर्स ने ये भी कहा कि राजनीतिक रैलियां, बड़े पैमाने पर लोगों की भीड़ और कोरोना से बचाव के नियमों का पालन न  करने की वजह से हालात बेकाबू हुए हैं. NPR की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि फरवरी से लेकर मार्च की शुरुआत तक भारत में स्थिति अचानक से बदली है. 

यह भी पढ़ें; कोरोना ने खत्म कर दिया पूरा परिवार, अब घर में बची हैं सिर्फ दो मासूम बच्चियां

क्यों हुआ विस्फोट?
एक्सपर्ट्स के मुताबिक वायरस के बार-बार स्वरूप बदलने की वजह से ही अचानक विस्फोट हुआ है. बार-बार म्यूटेशन की वजह से ही तमाम रिसर्च किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंच पा रही हैं. भारत में यूनिसेफ (UNICEF) के प्रतिनिधि डॉ. यास्मीन अली हक ने कहा है कि वायरस से हुई इस तबाही की भरपाई में भारत को सालों लग सकते हैं. 

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.