कोरोना: खाड़ी देशों में फंसे भारतीयों को नहीं मिल रहीं मेडिकल सुविधाएं, सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर

कोरोना वायरस (Coronavirus) की वजह से दुनियाभर में हंगामा मचा हुआ है. इस बीच प्रवासी लीगल सेल नाम की संस्था ने सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर की है.

कोरोना: खाड़ी देशों में फंसे भारतीयों को नहीं मिल रहीं मेडिकल सुविधाएं, सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर
फाइल फोटो

नई दिल्ली: कोरोना वायरस (Coronavirus) की वजह से दुनियाभर में हंगामा मचा हुआ है. इस बीच प्रवासी लीगल सेल नाम की संस्था ने सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर की है. ये याचिका खाड़ी देशों में रह रहे भारतीयों को वापस लाने से जुड़ी है. 

याचिका में कहा गया है कि सऊदी अरब, UAE, कुवैत, ओमान, बहरीन, क़तर में लाखों भारतीय काम करते हैं, जो ज्यादातर मजदूर हैं और वहां फंस गए हैं. भारत सरकार उन्हें वापस लाए और  वहां उन तक मेडिकल और जरूरी सुविधाएं पहुंचाए.

याचिका में कहा गया है कि कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बावजूद इन लोगों का वहां इलाज नहीं हो पा रहा है क्योंकि उन देशों की प्राथमिकता पहले अपने देशवासियों के इलाज की है. बता दें कि भारत में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या बढ़कर 6412 हो गई है. पिछले 24 घंटे में 678 नए केस सामने आए हैं. अब तक इस बीमारी से 199 लोगों की मौत हुई है. 

ये भी पढ़ें- देश में कोरोना के 6412 मरीज, 199 की मौत; पिछले 24 घंटे में 678 नए केस: स्वास्थ्य मंत्रालय

स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministy) के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने शुक्रवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह जानकारी दी. अग्रवाल ने बताया, "देश में फिलहाल 146 सरकारी लैब और 67 प्राइवेट लैब में कोरोना टेस्ट हो रहे हैं. कल गुरुवार को 16002 टेस्ट किए गए. केवल 2% पॉजिटिव पाए गए. एकत्र किए गए सैंपल के आधार पर यही कहा जा सकता है कि संक्रमण की दर बहुत अधिक नहीं है." 

ये भी देखें-