इन चार बड़े मामलों में अदालत का फैसला आज, जानें इनके बारे में...

अयोध्‍या विवाद (Ayodhya Case) और कर्नाटक (Karnataka) के 17 अयोग्‍य विधायकों पर फैसला सुनाने के बाद सुप्रीम कोर्ट गुरुवार को तीन और बड़े मामलों में अपना अहम फैसला सुनाएगा. इसके अलावा दिल्ली के साकेत कोर्ट में मुजफ्फरपुर मामले में फैसला सुनाया जाएगा. 

इन चार बड़े मामलों में अदालत का फैसला आज, जानें इनके बारे में...
फाइल फोटो

नई दिल्‍ली: अयोध्‍या विवाद (Ayodhya Case) और कर्नाटक (Karnataka) के 17 अयोग्‍य विधायकों पर फैसला सुनाने के बाद सुप्रीम कोर्ट गुरुवार को तीन और बड़े मामलों में अपना अहम फैसला सुनाएगा. वहीं दिल्ली के साकेत कोर्ट में मुजफ्फरपुर मामले में भी फैसला सुनाया जाएगा.  आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) की ओर से राफेल और सबरीमाला मामले में दायर पुनर्विचार याचिका पर सुबह साढ़े 10:30 बजे फैसला सुनाया जाएगा. इसके अलावा सुप्रीम कोर्ट राहुल गांधी के 'चौकीदार चोर है' वाले बयान पर भी उनके खिलाफ अवमानना कार्यवाही शुरू करने की मांग पर भी फैसला सुनाएगा. हालांकि राहुल गांधी अपने बयान के लिए कोर्ट से माफी मांग चुके हैं. 

राफेल मामला
राफेल मामले में दायर पुनर्विचार याचिका पर सुप्रीम कोर्ट आज सुबह 10.30 बजे सुनाएगा फैसला

'चौकीदार चोर है'
सुप्रीम कोर्ट राफेल डील केस को लेकर लगी पुनर्विचार याचिका के साथ ही लोकसभा चुनाव के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी द्वारा 10 अप्रैल को दिए गए विवादित नारे 'चौकीदार चोर है' पर भी अपना निर्णय सुनाएगा. भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी ने राहुल गांधी द्वारा दिए गए इस विवादित बयान के बाद सुप्रीम कोर्ट में अवमानना याचिका लगाई थी.

राफेल डील के साथ ही इस अवमानना याचिका पर भी सुप्रीम कोर्ट अपना फैसला देगा. हालांकि अवमानना याचिका दायर किए जाने के बाद राहुल गांधी ने सुप्रीम कोर्ट में इस मामले को लेकर बिना शर्त माफी मांगी थी. राहुल गांधी ने राफेल से जुड़े शीर्ष कोर्ट के आदेश को पीएम मोदी के खिलाफ लगाए गए 'चौकीदार चोर है' के स्लोगन से भी जोड़ा था.

सबरीमाला मामला 
सबरीमाला मामला में दायर पुनर्विचार याचिका पर सुप्रीम कोर्ट सुनायेगा फैसला. दरअसल, सबरीमाला मंदिर में 10 से 50 वर्ष आयु वर्ग की महिलाओं के प्रवेश दिए जाने के बाद सुप्रीम कोर्ट में दर्जनों याचिका दायर कर कहा गया था कि इस पर दोबारा विचार किया जाए. पांच सदस्यों वाली संविधान पीठ ने 4:1 के अनुपात से फैसला सुनाया था कि सबरीमला मंदिर में हर आयु वर्ग की महिलाओं को प्रवेश की अनुमति दी जाए.

मुजफ्फरपुर मामला
मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड में दिल्ली की साकेत कोर्ट फैसला सुनाएगी. आज ब्रजेश ठाकुर समेत 21 आरोपियों पर कोर्ट का फैसला आएगा. इस मामले में पॉस्को एक्ट समेत अन्य मामलों में केस दर्ज हुआ था. आरोपियों को 10 साल से लेकर उम्र कैद तक की हो सकती है.