सबरीमाला मुद्दा: CPI ने कहा, 'महिलाओं के खिलाफ ‘जंग’ छेड़ रहे हैं बीजेपी और आरएसएस'

सीपीआई ने आरोप लगाया,‘बीजेपी, आरएसएस और विहिप, भक्तों के नाम पर हिंसा फैला रहे हैं.

सबरीमाला मुद्दा: CPI ने कहा, 'महिलाओं के खिलाफ ‘जंग’ छेड़ रहे हैं बीजेपी और आरएसएस'
सीपीआई के राष्ट्रीय सचिव डी राजा ने कहा कि उच्चतम न्यायालय ने मंदिर में सभी आयु वर्ग की महिलाओं के प्रवेश के पक्ष में फैसला सुनाया था और यह माकपा का फैसला नहीं है. (फाइल फोटो)

चेन्नई: सीपीआई ने सबरीमला मु्द्दे पर बीजेपी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर निशाना साधते हुए मंगलवार को आरोप लगाया कि दोनों ही महिलाओं और मातृत्व के खिलाफ ‘जंग’ छेड़ रहे हैं. सीपीआई के राष्ट्रीय सचिव डी राजा ने इस मुद्दे पर पिनराई विजयन नीत एलडीएफ सरकार को गिराने संबंधी बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के बयान की भी आलोचना की.

राजा ने आरोप लगाया कि बीजेपी और अन्य भगवा संगठनों ने केरल की माकपा सरकार पर ‘हिंदुओं के खिलाफ जंग छेड़ने’ का आरोप लगाया है, जबकि असल में संघ परिवार के संगठन अयप्पा भक्तों के भेष में महिलाओं पर निशाना साध रहे हैं. उन्होंने कहा कि उच्चतम न्यायालय ने मंदिर में सभी आयु वर्ग की महिलाओं के प्रवेश के पक्ष में फैसला सुनाया था और यह माकपा का फैसला नहीं है.

राजा ने आरोप लगाया,‘बीजेपी, आरएसएस और विहिप, भक्तों के नाम पर हिंसा फैला रहे हैं. बीजेपी और संघ ने महिलाओं और मातृत्व के खिलाफ जंग छेड़ रखी है.’ शाह ने हाल ही में कहा था कि अगर अयप्पा भक्तों पर हमला किया गया तो बीजेपी कार्यकर्ता सरकार गिराने से भी नहीं हिचकेंगे. इस पर राजा ने कहा कि क्या बीजेपी के पास राज्य विधानसभा में ऐसा करने की ताकत है. राज्यसभा सांसद ने कहा, ‘‘क्या यह लोकतांत्रिक है?’’ 

केंद्र की बीजेपी नीत राजग सरकार पर निशाना साधते हुए राजा ने कहा कि देश में संसदीय लोकतंत्र और अन्य संस्थानों पर हमले हो रहे हैं और सभी धर्मनिरपेक्ष ताकतों को सरकार के खिलाफ हाथ मिलाना चाहिए.

(इनपुट - भाषा)