जम्मू कश्मीर के पुंछ जिले में संघर्षविराम के उल्लंघन के बाद रोका गया सीमा पार व्यापार

एलओसी व्यापार केंद्र के संरक्षक फरीद कोहली ने बताया कि चक्कन दा बाग में व्यापार सुविधा केंद्र पर मोर्टार से पांच गोले दागे गए, जिससे एक्सरे स्कैनर वाले कमरे सहित अन्य जगहों को नुकसान पहुंचा. 

 जम्मू कश्मीर के पुंछ जिले में संघर्षविराम के उल्लंघन के बाद रोका गया सीमा पार व्यापार
(प्रतीकात्मक फोटो)

जम्मू: जम्मू कश्मीर के पुंछ जिले में पाकिस्तानी सेना द्वारा बिना किसी उकसावे के मोर्टार से गोले दागे जाने और छोटे हथियारों से फायरिंग कर संघर्षविराम के उल्लंघन के बाद बुधवार को सीमा पार व्यापार को रोक दिया गया. 

एलओसी व्यापार केंद्र के संरक्षक फरीद कोहली ने बताया कि चक्कन दा बाग में व्यापार सुविधा केंद्र पर मोर्टार से पांच गोले दागे गए, जिससे एक्सरे स्कैनर वाले कमरे सहित अन्य जगहों को नुकसान पहुंचा. उन्होंने कहा कि दिन में साढ़े 12 बजे के करीब गोलाबारी हुई . उस वक्त ट्रकों की जांच करने का काम लगभग पूरा हो चुका था. गोलाबारी में कोई हताहत नहीं हुआ लेकिन इससे केंद्र में तैनात लोगों में दहशत फैल गयी. हालांकि, मुख्य इमारत सुरक्षित है . 

कोहली ने बताया कि गोलाबारी के कारण दिन भर के लिए सीमा पार व्यापार को रोक दिया गया . अधिकारियों ने बताया कि सुबह साढ़े 10 बजे कृष्णा घाटी में गोलाबारी शुरू हुई और बाद में पुंछ सेक्टर में भी गोलीबारी की गयी. भारतीय सैनिकों ने कार्रवाई का माकूल जवाब दिया और अंतिम खबर मिलने तक गोलाबारी चल रही थी . 

पुलवामा में आतंकवादियों ने पूर्व एसपीओ की हत्या की
दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले के एक गांव में आतंकवादियों ने पूर्व विशेष पुलिस अधिकारी (एसपीओ) की बुधवार को दिन-दहाड़े गोली मार कर हत्या कर दी. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि मृतक की पहचान आशिक अहमद नायक के तौर पर हुई है. 

आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद से संबद्ध माने जा रहे आतंकवादियों ने पिंगलीना इलाके में नायक पर गोली चला दी. इसी इलाके में 18 फरवरी को मुठभेड़ में तीन आतंकवादियों को मार गिराया गया था.

अधिकारियों ने बताया कि 25 वर्षीय नायक सेना की जम्मू कश्मीर लाइट इंफैंट्री (जाकली) में शामिल हुआ था लेकिन प्रशिक्षण का सामना नहीं कर पाने के बाद पिछले साल सितंबर में वह सेना छोड़ चुका था. उन्होंने बताया कि उसे स्थानीय अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया.