Cyclone Gulab: ओडिशा-आंध्र प्रदेश में जोरदार बारिश शुरू, श्रीकाकुलम से 1100 लोगों को किया गया रेस्क्यू

चक्रवाती तूफान ‘गुलाब’ (Cyclone Gulab) से आंध्र प्रदेश-ओडिशा में भारी बारिश शुरू हो गई है. हालात से निपटने और बचाव कार्यों के लिए नेवी के पोत समुद्र में तैनात हैं. 

Cyclone Gulab: ओडिशा-आंध्र प्रदेश में जोरदार बारिश शुरू, श्रीकाकुलम से 1100 लोगों को किया गया रेस्क्यू

भुवनेश्वर: चक्रवाती तूफान ‘गुलाब’ (Cyclone Gulab) से ओडिशा-आंध्र प्रदेश में भारी बारिश शुरू हो गई है. आंध्र प्रदेश के श्रीकाकुलम जिले से 1100 लोगों को रेस्क्यू किया गया है. जिले प्रशासन का कहना है कि अगले दो घंटे काफी परेशानी भरे हैं.

तेज हवाओं के साथ हो रही जोरदार बारिश

जिले के ज्वॉइंट कलेक्टर सुमित कुमार ने कहा कि NDRF-SDRF की 6 टीम के साथ प्रशासन की रेस्क्यू टीम भी पूरी तरह तैयार है. फिलहाल जिले में भारी बारिश हो रही है. कई जगह बाढ़ जैसे हालात हैं. करीब 90-100 किमी की स्पीड से हवा चल रही है. हालात पर लगातार निगरानी रखी जा रही है. सूत्रों के अनुसार समुद्र में मछली पकड़ने गए 6 मछुआरे तूफान में फंस गए थे. इनमें से 3 तो किसी तरह समुद्र तट पर वापस आ गए हैं. वहीं 2 मारे गए हैं. जबकि एक मछुआरे का अब तक कुछ अता-पता नहीं है.

पीएम मोदी ने की मुख्यमंत्रियों से बात

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चक्रवाती तूफान ‘गुलाब’ (Cyclone Gulab) को देखते हुए ओडिशा और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्रियों से बात करके हालात का जायजा लिया. प्रधानमंत्री ने दोनों मुख्यमंत्रियों को हरसंभव मदद का आश्वासन दिया. 

पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा, ‘आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई एस जगन मोहन रेड्डी से बातचीत की और चक्रवाती तूफान ‘गुलाब’ के मद्देनजर उत्पन्न स्थिति का जायजा लिया. केंद्र की ओर से हरसंभव मदद का आश्वासन दिया है. मैं सभी की सुरक्षा और खुशहाली के लिए प्रार्थना करता हूं.’

एक अन्य ट्वीट में प्रधानमंत्री ने कहा, ‘ओडिशा के कुछ हिस्सों में चक्रवात से उत्पन्न स्थिति को लेकर मुख्यमंत्री नवीन पटनायक से चर्चा की. इससे निपटने के लिए केंद्र हरसंभव मदद का आश्वासन देता है. सभी की सुरक्षा और खुशहाली की कामना करता हूं.’

भारतीय नौसेना के पोत अलर्ट पर 

चक्रवाती तूफान ‘गुलाब’ (Cyclone Gulab) से निपटने के लिए भारतीय नौसेना अलर्ट पर है. नेवी ने अपने कई पोतों और विमानों को बचाव कार्यों के लिए तैनात किया है. 

नेवी ने बयान जारी करके कहा कि चक्रवाती तूफान (Cyclone) से निपटने के लिए नौसेना पूरी तरह तैयार है. विशाखापत्तनम में नौसेना के पूर्वी कमान और ओडिशा में तूफान के प्रभावों का सामना करने की तैयारियां की गई हैं. तूफान की गति पर करीब से नजर रखी जा रही है.

नेवी ने कहा कि गोताखोरों की टीम ओडिशा में तैनात है. विशाखापत्तनम में भी तत्काल मदद के लिए एक टीम तैयार है. विशाखापत्तनम में नौसेना के हवाई ठिकाने INS देग और चेन्नई के नजदीक INS रंजली तैनात हैं. इन दोनों पोतों पर तैनात विमान प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण, घायलों को बचाने और राहत सामग्री गिराने के लिए तैयार रखे गए हैं. 

रेलवे ने कई ट्रेनों का रूट बदला

इस बीच, पूर्व तटीय रेलवे ने गुलाब तूफान (Cyclone Gulab) के चलते 34 जोड़ी रेलगाड़ियों को रद्द कर दिया है. इसके साथ ही 13 रेलगाड़ियों का समय पुनर्निधारित किया है. वहीं 17 रेलगाड़ियों का रास्ता बदला गया है.

रेलवे ने बताया, ‘चक्रवाती हवाओं के साथ भारी बारिश होने के पूर्वानुमान के चलते सभी एहतियाती उपाय पूर्व तटीय रेलवे द्वारा किए गए हैं.’ रेलवे ने कहा कि प्रभावित इलाकों के पुलों पर नजर रखी जा रही है. इन इलाकों में बिजली और सिग्लन परिचालन को प्रभावित होने से बचाने के लिए भी उचित कदम उठाए जा रहे हैं.

ये भी पढ़ें- Cyclone Gulab के लैंडफॉल का खतरा, गिर सकती है बिजली; आज सावधान रहें यहां के लोग

18 किमी की स्पीड से बढ़ रहा तूफान

वहीं भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने बताया कि ‘गुलाब’ तूफान (Cyclone Gulab) रविवार की रात को ओडिशा के गंजम जिले के गोपालपुर और आंध्र प्रदेश के कलिंगपट्नम तट के बीच से गुजरेगा. 

विभाग ने कहा कि फिलहाल यह तूफान गोपालपुर से करीब 125 किलोमीटर दक्षिणपूर्व और कलिंगपत्तनम से 160 किलोमीटर पूर्व में स्थित है. तूफान समुद्र में 18 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से बढ़ रहा है. चक्रवात के प्रभाव से ओडिशा के दक्षिण एवं तटीय क्षेत्रों में रविवार से बारिश शुरू हो गई है.

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.