कराची के इन 2 पतों पर रहता है अंडरवर्ल्‍ड डॉन दाऊद इब्राहिम

उसने जांचकर्ताओं को आगे बताया कि दाऊद को पाकिस्‍तानी खुफि‍या एजेंसी आईएसआई द्वारा सुरक्षा के लिए सर्वश्रेष्ठ कमांडो दिए हैं...

कराची के इन 2 पतों पर रहता है अंडरवर्ल्‍ड डॉन दाऊद इब्राहिम
फाइल फोटो...

नई दिल्‍ली/मुंबई : अंडरवर्ल्‍ड डॉन दाऊद इब्राहिम के बारे में एक बार फि‍र भारतीय एजेंसियों के हाथ बड़ी और पुख्‍ता जानकारी लगी है. हाल ही में पटना से गिरफ्तार दाऊद के पुराने और करीबी गैंगस्‍टर एजाज लकड़ावाला ने बताया है कि दाऊद इब्राहिम पाकिस्‍तान के कराची में ही रहता है. लकड़ावाल ने पूछताछ में दाऊद के कराची स्थित दो पते जांच एजेंसियों को बताए हैं, जोकि 6 ए, ख्याबन तंजीम फेज-5, डिफेंस हाउसिंग एरिया, कराची और डी -13, ब्लॉक 4, क्लिफ्टन हैं.

उसने जांचकर्ताओं को आगे बताया कि दाऊद को पाकिस्‍तानी खुफि‍या एजेंसी आईएसआई द्वारा सुरक्षा के लिए सर्वश्रेष्ठ कमांडो दिए हैं, जोकि पड़ोसी देश के सेना प्रमुख और पीएम की जानकारी के बिना संभव नहीं है. यहां तक की अनीस और छोटा शकील भी ISI के सुरक्षित घेरे में हैं. आईएसआई उनकी प्रत्येक यात्रा के लिए अलग-अलग देशों में बनाए गए नकली पासपोर्ट प्राप्त करने में उनकी मदद करता है. 

बता दें कि बीते 9 जनवरी को अंडरवर्ल्‍ड के खिलाफ मुंबई पुलिस के हाथ एक बड़ी कामयाबी लगी थी. मुंबई पुलिस (Mumbai Police) की क्राइम ब्रांच ने पाकिस्‍तान (Pakistan) अंडरवर्ल्‍ड डॉन दाऊद इब्राहिम (Dawood Ibrahim) के करीबी गैंगस्‍टर एजाज लकड़ावाला (Ejaz Lakdawala) को गिरफ्तार कर लिया था. क्राइम ब्रांच की टीम ने उसे पटना में गिरफ्तार किया. क्राइम ब्रांच की टीम को यह कामयाबी एजाज की बेटी की गिरफ्तारी के बाद मिली. वहीं से पुलिस को उसके पटना में होने की जानकारी मिली, जिसके बाद उसे धर लिया गया. अदालत ने लकड़ावाला को 21 जनवरी तक पुलिस रिमांड में भेज दिया. लकड़ावाला पिछले 20 साल से फरार था.

मुंबई के पुलिस आयुक्‍त संजय बर्वे ने मीडिया को बताया था कि लकड़ावाला के खिलाफ केवल मुंबई में ही 25 केस दर्ज है, जबकि राज्‍य में अन्‍य 2 जगहों पर भी उसके खिलाफ केस दर्ज हैं. वहीं, मामले की क्राइम ब्रांच की एंटी एक्सटॉर्शन सेल अन्‍य राज्‍यों से भी संपर्क कर रही है कि उसके खिलाफ कहीं और भी केस दर्ज या नहीं? 

संजय बर्वे के अनुसार, बीते 28 दिसंबर को लकड़ावाला की बेटी सानिया शेख को गिरफ्तार किया गया था. क्राइम ब्रांच उसके खिलाफ बाकी के केसों की तफ्तीश लंबे अर्से से कर रही थी. एंटी एक्सटॉर्शन सेल सानिया शेख को लंबे समय से ट्रेस कर रही थी और वह लकड़ावाला के नाम 5 करोड़ की वसूली कर रही थी. सानिया ने पूछताछ में बताया कि लकड़ावाला नेपाल भागने की फिराक में है. पूछताछ में ही लकड़ावाला की लोकेशन ट्रेस हुई. इसके बाद खुफि‍या मिशन के तहत एंटी एक्सटॉर्शन सेल की टीम पटना में रूकी हुई थी. जहां उसे लगातार ट्रैक किया जा रहा था. कल उसे गिरफ्तार कर लिया गया.