'डियर' विवाद: स्‍मृति ईरानी ने फेसबुक पोस्ट के जरिये अशोक चौधरी को दिया जवाब

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी और बिहार के शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी के बीच सोशल मीडिया पर बीते दिनों 'डियर' शब्द को लेकर हुए विवाद के बीच स्‍मृति ईरानी ने अब फेसबुक पोस्ट के जरिये विस्‍तृत जवाब दिया है। स्मृति ने कहा है कि वो उनमें से नहीं, जो मुंह बंद करके बैठ जाएं। स्मृति ने अपने जवाब के अंत में खुद के लिए 'सादर, आंटी नेशनल' लिखा है।

'डियर' विवाद: स्‍मृति ईरानी ने फेसबुक पोस्ट के जरिये अशोक चौधरी को दिया जवाब

नई दिल्‍ली : केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी और बिहार के शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी के बीच सोशल मीडिया पर बीते दिनों 'डियर' शब्द को लेकर हुए विवाद के बीच स्‍मृति ईरानी ने अब फेसबुक पोस्ट के जरिये विस्‍तृत जवाब दिया है। स्मृति ने कहा है कि वो उनमें से नहीं, जो मुंह बंद करके बैठ जाएं। स्मृति ने अपने जवाब के अंत में खुद के लिए 'सादर, आंटी नेशनल' लिखा है।

स्मृति ने अपने फेसबुक पर अपनी परवरिश को याद करते हुए लिखा है कि 'जब मैं छोटी थी, उस वक्त लड़कियों को जवाब नहीं देने के लिए सिखाया जाता था। लोगों को इससे फर्क नहीं पड़ता था कि लड़के, लड़कियों को कितना अपमानित करते थे। उन्होंने कहा कि यदि कोई लड़की जवाब देती भी थीं तो उसे असभ्‍य मान लिया जाता था। सवाल ये है कि लड़कियों को जवाब क्यों नहीं देना चाहिए। लड़कियों को चुप रहने को क्यों कहा जाता है। स्मृति का इशारा ट्वीटर पर बिहार के शिक्षा मंत्री के साथ हुए विवाद की तरफ था। उन्होंने अशोक चौधरी के डियर संबोधन पर आपत्ति जताने के बाद उपजे विवाद का जवाब दिया था। अपने फेसबुक पोस्ट में आज उन्होंने उस मानसिकता का जिक्र किया है, जिसमें महिलाओं की मेहनत के बाद भी लोग उसपर आरोप लगाते हैं। साथ ही स्मृति ने संघर्ष और मेहनल से हासिल किये गये उपलब्धियों का जिक्र करते हुए शिक्षा मंत्री के अन्य आरोपों का जवाब भी दिया। स्मृति ने अपने पोस्ट में यह भी कहा, मुझे आंटी नेशनल कहिए, फर्क नहीं पड़ता। मैं आलोचना का सामना करने में विश्वास करती हूं, इससे भागती नहीं।

 

बता दें कि बिहार के शिक्षा मंत्री और कांग्रेस नेता अशोक चौधरी ने बीते दिनों अपने एक ट्वीट में केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी को ‘डियर’ कहकर संबोधित किया, जिसके बाद दोनों के बीच ट्विटर पर शब्दयुद्ध छिड़ गया। कांग्रेस नेता चौधरी ने एक ट्वीट में एचआरडी मंत्री को ‘डियर’ स्मृति ईरानी जी लिखा और कहा कि उन्हें राजनीति और भाषणों पर ध्यान देने के बजाय नई शिक्षा नीति (एनईपी) पर ध्यान देना चाहिए। जिस पर स्मृति ने पलटवार करते हुए चौधरी से कहा कि महिलाओं को ‘डियर’ कह कर कब से संबोधित करने लगे अशोकजी? प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष चौधरी ने लिखा कि यह ‘अपमान के लिए नहीं है बल्कि सम्मान के लिए था। पेशेवर ईमेल ‘डियर’ शब्द के साथ शुरू होते हैं।’ उन्होंने अपने ट्वीट में स्मृति ईरानी से वास्तविक मुद्दे का जवाब देने और बात को नहीं घुमाने को कहा।

हालांकि, बिहार के शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी ने बुधवार को केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी को ‘डियर’ संबोधित करने के अपने आधार पर डटे रहकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आशा भोसले को इस शब्द से संबोधित करने सहित कई संदभरें का हवाला दिया। चौधरी ने अपने ट्विटर अकाउंट पर केंद्रीय श्रम मंत्री बंडारू दत्तात्रेय की तरफ से ईरानी को लिखे गए एक पत्र में ‘डियर’ का हवाला दिया और आरोप लगाया कि वह इस मामले पर ‘दोहरा रुख’ अपना रही हैं। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री के साथ ट्वीटर पर अपनी बहस का हवाला देते हुए चौधरी ने कहा कि आपको दूसरों का ‘डियर’ कहना ठीक लगा लेकिन मैंने यही किया तो आपत्ति हो गई। बिहार के मंत्री ने अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के पूर्व के ट्वीट को रीट्वीट किया जिसमें उन्होंने कहा था कि ‘डियर’ जेंडर न्यूट्रल है और ईरानी को ‘रेन एंड मार्टिन’ की ग्रामर किताब पढ़ने की सलाह दी।