close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सुनिश्चित करें कि आगे बदसलूकी नहीं होगी, तभी बैठक में शामिल होंगे: मुख्य सचिव ने CM केजरीवाल को लिखा खत

मुख्यसचिव के साथ हुई मारपीट के बाद दिल्ली में सभी अधिकारियों और करमचारियों ने सरकार के किसी बैठक में शामिल नहीं होने का फैसला किया था.

सुनिश्चित करें कि आगे बदसलूकी नहीं होगी, तभी बैठक में शामिल होंगे: मुख्य सचिव ने CM केजरीवाल को लिखा खत
मारपीट की घटना के बाद आज पहली बार दिल्ली सरकार की कैबिनेट की बैठक में शामिल होंगे मुख्य सचिव.

नई दिल्ली प्रफुल कुमार श्रीवास्तव. मुख्य सचिव के साथ हुई मारपीट की घटना के बाद आज पहली बार दिल्ली सरकार की कैबिनेट की बैठक हो रही है. इस बैठक में मुख्य सचिव अंशु प्रकाश शामिल होंगे. बैठक दोपहर तीन बजे शुरू होगी. आपको बता दें कि मुख्य सचिव के साथ हुई मारपीट के बाद दिल्ली में सभी अधिकारियों और करमचारियों ने सरकार के किसी बैठक में शामिल नहीं होने का फैसला किया था. इस घटना के बाद ये पहली कैबिनेट की बैठक होगी जब दिल्ली सरकार का मुख्यसचिव इसमें शामिल होंगे. उनके साथ दिल्ली के वित्त सचिव और जीएडी सचिव शामिल होंगे. ये बैठक आज दोपहर तीन बजे है. 

दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को चिठ्ठी लिखी है. चिठ्ठी में कहा गया है कि आज होने वाले कैबिनेट कि मीटिंग में मुख्य सचिव अपने सहयोगियों के साथ आएंगे लेकिन मुख्यमंत्री को ये सुनिश्चित करना होगा कि कोई वहां कोई फिजिकल असॉल्ट ना हो. 

दिल्ली जॉइंट फोरम के अधिकारियों के मुताबिक कैबिनेट की बैठक में शामिल होने का फैसला इसलिए लिया गया है क्योंकि ये दिल्ली के लोगों से जुड़ा हुआ है. कैबिनेट की बैठक बिना मुख्यसचिव के नहीं हो सकती वहीं बजट सेशन की तारीख भी तय नहीं हो पाती. ऐसे में इसका नुकसान आम जनता को होता, जो वो नहीं चाहते हैं इसलिए मुख्य सचिव के कैबिनेट में जाने का फैसला लिया गया.
यह भी पढ़ें: मुख्य सचिव विवाद : दिल्ली सरकार के अधिकारियों ने की कैबिनेट सचिव से मुलाकात

आपको बता दें कि मुख्यमंत्री के घर बैठक में मुख्य सचिव के साथ हुई हाथापाई की घटना के बाद दिल्ली सरकार में काम करनेवाले सभी कर्मचारियों और अधिकारियों की जोईंट फोरम ने फैसला किया था की जब तक सरकार की ओर से माफी नहीं मांगी जाती और आगे ऐसा नहीं होगा इसका आश्वासन नहीं मिलता वो किसी बैठक में नहीं जाएंगे. वहीं सिर्फ लिखित में सारे सरकार के काम होंगे. 
यह भी पढ़ें: मुख्य सचिव अंशु प्रकाश की मेडिकल रिपोर्ट में खुलासा, चेहरे पर चोट के निशान और सूजन

मुख्य सचिव के साथ मारपीट की घटना के बाद दिल्ली सरकार और दिल्ली के सभी करमचारियों के बीच दूरियां बड़ गई हैं. इस घटना को लेकर दिल्ली सरकार के करमचारियों और अधिकारियों के जोईंट फोरम ने पहले उपराज्यपाल, गृहमंत्री राजनाथ सिंह, गृह राज्य मंत्री हंसराज अहिर, कैबिनेट सचिव और कर्मिक मंत्रालय के मंत्री डॉ जितेंद्र सिंह से मुलाकात की. इसके अलवा मुख्य सचिव ने पुलिस से भी मामले की शिकायत की जिसके बाद आम आदमी पार्टी के दो विधायकों अमंतुल्लाह खान और प्रकाश जरवाल को पुलिस ने हिरासत में ले लिया. कोर्ट  उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. वहीं सबूत जमा करने के लिए पुलिस मुख्यमंत्री के घर भी गई, जहां से सीसीटीवी के हार्डडिस्क को कब्जे में ले लिया गया.