जब अदालत में पेशी के लिए पहुंचे 13 तोते, लोग हुए भौचक्के, जज साहब ने सुनाया ये फैसला

जज साहब ने कोर्ट में पिंजरे में बंद तोतों को देखने के बाद जो आदेश दिया उसे सुनकर आरोपी के खुद तोते उड़ गए.

जब अदालत में पेशी के लिए पहुंचे 13 तोते, लोग हुए भौचक्के, जज साहब ने सुनाया ये फैसला

दिल्ली: दिल्ली कि एक अदालत में आज 13 तोतों की पेशी हुई, इन तोतों को तस्करी कर भारत से उज़्बेगिस्तान ले जाया जा रहा था लेकिन सीआईएसफ की सूझबूझ से कस्टम विभाग ने तोतों को बरामद कर उनकी रिहाई के लिए कोर्ट से गुहार लगाई है. जिसके लिए तोतों को बाकायदा कोर्ट रूम में जज के सामने पेश किया. पिंजरे में बंद इन तोतों को अदालत में पेश करने के लिए ले जाया जा रहा है. आप सोच रहे होंगे कि आखिर इन तोतों ने ऐसा क्या गुनाह कर दिया है कि इन्हें इंसानी कोर्ट में पेश किया जा रहा है. 

दरअसल इन तोते को तस्करी करके एक शख्स उज़्बेगिस्तान ले जाने की कोशिश कर रहा था लेकिन इससे पहले की वो इनको जूतों के डिब्बे में छुपाकर ले जा पाता सीआईएसएफ की नज़र में आ गया और इन तोतों को तस्करी होने से बचा लिया गया. कस्टम विभाग ने इन तोतों को बचा तो लिया लेकिन इनको खुले आसमान में रिहा करने के लिए अदालत के आदेश की ज़रूरत है.

लिहाजा तोतो को लेकर कस्टम विभाग पटियाला हाउस कोर्ट पहुंचा और अदालत के आदेश के बाद तोतो को फारेस्ट डिपार्टमेंट को सौंप दिया. वहीं इन तोतो की तस्करी करने वाले उज़्बेगिस्तान मूल के आरोपी के वकील ने इस मामले को जमानती बताते हुए ज़मानत देने की गुहार लागई लेकिन जज साहब ने कोर्ट में पिंजरे में बंद तोतों को देखने के बाद जो आदेश दिया उसे सुनकर आरोपी के खुद तोते उड़ गए.  अदालत ने आरोपी को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज कर इन तोतों को आज़ाद करने का आदेश दिया है.