close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

IT की छापेमारी में कुलदीप बिश्‍नोई की 200 करोड़ की संपत्ति उजागर, कर चोरी भी सामने आई

आयकर विभाग की जांच में ये भी पता चला कि कुलदीप बिश्नोई का हीरों का व्यवसाय है. साथ ही उनके नीरव मोदी और मेहुल चौकसी के साथ भी कारोबारी संबध थे.

IT की छापेमारी में कुलदीप बिश्‍नोई की 200 करोड़ की संपत्ति उजागर, कर चोरी भी सामने आई
13 दिन चली कुलदीप बिश्‍नोई के ठिकानों पर छापेमारी. फाइल फोटो

नई दिल्‍ली : इनकम टैक्स विभाग ने 6 दिन चली छापेमारी के बाद हरियाणा से कांग्रेस के विधायक कुलदीप बिश्नोई की 200 करोड़ से ज्यादा की संपति का पता लगाया है. इनकम टैक्‍स विभाग ने 23 जुलाई से कुलदीप बिश्नोई के दिल्ली, हरियाणा और हिमाचल प्रदेश में 13 ठिकानों पर छापेमारी शुरू की थी. इस छापेमारी में विदेशों में जमा काले धन के साथ-साथ 30 करोड़ की कर चोरी का भी पता चला है. 

इनकम टैक्स विभाग ने बताया कि कुलदीप बिश्नोई पिछले कई सालों से बिना एजेंसी की नजर में आए देश और विदेश में संपति बना रहे थे. एजेंसी को ब्रिटेन, संयुक्‍त अरब अमीरात, पनामा, बीवीआई, जर्सी में  कुलदीप बिश्नोई की संपति का पता चला है, जिसे अलग-अलग लोगों के नाम से जमा कर रखा था. इनमें से एक आदमी ने तो कैरेबियन द्वीप में नागरिकता लेने के की कोशिश भी की थी. 

जांच में ये भी पता चला कि कुलदीप बिश्नोई का हीरों का व्यवसाय है और नीरव मोदी और मेहुल चौकसी के साथ भी कारोबारी संबध थे. अब एजेंसी ये भी पता लगाने में लगी है कि कहीं कुलदीप बिश्नोई का नीरव मोदी और मेहुल चौकसी के घोटाले के साथ तो किसी तरह का संबध नहीं है.

 

इनकम टैक्स विभाग का कहना है कि इस छापेमारी के बाद और विदेशों में 200 करोड़ से ज्यादा के काले धन होने की जानकारी के बाद कुलदीप बिश्नोई के खिलाफ ब्लैक मनी एक्ट के तहत कारवाई हो सकती है और साथ ही ED भी मनी लॉड्रिंग कानून के तहत मामला दर्ज कर सकती है. 

कुलदीप बिश्नोई हरियाणा के आदमपुर से विधायक है और इनकी पत्नी रेनुका बिश्नोई हांसी से विधायक है. दोनों हरियाणा जनहित कांग्रेस से विधायक थे जो कुलदीप बिश्नोई की पार्टी थी लेकिन 2016 में पार्टी का कांग्रेस में विलय कर दिया था. कुलदीप के पिता भजनलाल हरियाणा के मुख्यमंत्री रह चुके है. 2019 के हिसार लोकसभा से कुलदीप बिश्नोई के बेटे भव्य ने चुनाव लड़ा था लेकिन हार गये थे.