close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दिल्ली: विदेशी नागरिक को बंधक बनाकर दिया लूट को अंजाम, चलती कार से फेंका

आईजीआई एयरपोर्ट के डीसीपी संजय भाटिया ने बताया कि पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरु कर दी है. 

दिल्ली: विदेशी नागरिक को बंधक बनाकर दिया लूट को अंजाम, चलती कार से फेंका
पुलिस ने बताया कि सभी आरोपी अभी फरार चल रहे हैं.

नई दिल्ली: दिल्ली में तीन लोगों ने कनाडा के नागरिक को टैक्सी में बैठाकर पहले बंधक बनाया और जबरन एटीएम लेकर एक लाख रुपये खाते से निकाल लिए. इतना ही नहीं पीड़ित के पास मौजूद 12 हजार रुपये नगद और 302 अमेरिकन डॉलर भी लूट लिए. इसके बाद पीड़ित को महिपालपुर फ्लाईओवर के पास उतार कर आरोपी फरार हो गए. देर रात हुई इस घटना की सूचना पीड़ित ने सुबह आईजीआई एयरपोर्ट पुलिस को दी.

घटना की पुष्टि करते हुए आईजीआई एयरपोर्ट के डीसीपी संजय भाटिया ने बताया कि पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरु कर दी है. सीसीटीवी फुटेज के आधार पर आरोपियों की टैक्सी की शिनाख्त कर ली गई है और उनकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है. बहुत जल्द उन्हें ट्रेस कर गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

पुलिस ने बताया कि कनाडा के नागरिक मोहम्मद मेहदू एयरलाइन्स में काम करते हैं. अपने बयान में उन्होंने बताया कि गत 12-13 जुलाई की देर रात साढ़े बारह बजे वे दिल्ली एयरपोर्ट पर उतरे थे. एयरपोर्ट पर उन्हें लेने के लिए कम्पनी की कैब आने वाली थी. कम्पनी की कैब को देखते हुए वे एयरपोर्ट से बाहर निकलकर मेन रोड पर मेट्रो स्टेशन गेट संख्या 2 के पास पहुंच गए. वे कम्पनी के कैब चालक से बात कर ही रहे थे कि एक शख्स खुद को टैक्सी ड्राइवर बताकर उनके पास मदद की बात कहता हुआ आया. 

उसने मोहम्मद मेहदू से हिन्दी में बात करने को कहा. मेहदू ने उससे अपनी कम्पनी के कैब के पास पहुंचाने का आग्रह किया और 100 रुपए में बात तय हुई. कनाडाई नागरिक उसकी टैक्सी में बैठ गए, जिसमें पहले से ही दो लोग सवार थे. टैक्सी आगे बढ़ी और मेहराम नगर लाल बत्ती क्रॉस करते ही तीनों ने मिलकर पीड़ित को बंधक बना लिया और जबरन उनका डेबिट कार्ड छीन लिया. इसके बाद पिन जानकर उनके खाते से एक लाख रुपए निकाल लिए. साथ ही उनके पर्स में रखा कैश भी लूट लिया और बाद में महिपालपुर फ्लाईओवर के पास उन्हें उतारकर फरार हो गए.