close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दिल्ली: टेम्पो ड्राइवर और पुलिस के बीच हुए विवाद में तीन पुलिसकर्मी निलंबित

पुलिस ने इस मामले में दोनों पक्षों के मामलों को दर्ज कर लिया है. 

दिल्ली: टेम्पो ड्राइवर और पुलिस के बीच हुए विवाद में तीन पुलिसकर्मी निलंबित
मुखर्जी नगर थाने के बाहर पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन करते लोग (फोटो साभार - PTI)

नई दिल्ली: राजधानी के मुखर्जी नगर क्षेत्र में एक टेम्पो चालक के साथ सड़क पर मारपीट के मामले में तीन पुलिसकर्मियों को ‘गैर पेशेवर आचरण’ अपनाने के आरोप में निलंबित कर दिया गया है. दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने सोमवार को यह जानकारी दी. पुलिस ने इस मामले में दोनों पक्षों के मामलों को दर्ज कर लिया है. 

इस बीच मुखर्जी नगर में प्रदर्शनकारियों ने रविवार शाम शालीमार बाग एसीपी केजी त्यागी के साथ कथित तौर पर मारपीट की. वह उन लोगों को इस निलंबन के बारे में बताने के लिए गए थे. 

पुलिस ने बताया कि ‘ग्रामीण सेवा’ के एक टेम्पो चालक के कथित हमले के बाद एक पुलिस अधिकारी घायल हो गया. उन्होंने कहा कि चालक ने अपने वाहन के पुलिस वाहन से टकराने के बाद पुलिसकर्मियों का कृपाण लेकर पीछा किया. इस घटना का एक वीडियो क्लिप सोशल मीडिया में वायरल हो गया.  एक दूसरी क्लिप में दिखाया गया है कि पुलिसकर्मी उसकी डंडो से पिटाई कर रहे हैं.

दिल्ली पुलिस के पीआरओ मधुर वर्मा ने डयूटी पर घायल हुये पुलिसकर्मी के हवाले से बताया कि ग्रामीण सेवा के ड्राइवर सबरजीत सिंह के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है. उस पर हथियार से हमला करने का आरोप है. 

दूसरा मामला सिंह की शिकायत पर दर्ज किया गया है जिसमें उसके साथ पुलिसकर्मियों की ज्यादती की बात कही गई है.  वर्मा ने बताया कि ये मामले अपराध शाखा को भेज दिया गया है.  संयुक्त आयुक्त (उत्तरी रेंज) मनीष कुमार अग्रवाल अलग से मामले के तथ्यों का पता लगा रहे हैं.

वर्मा ने कहा कि शुरूआती जांच के बाद दो सहायक उपनिरीक्षकों सहित तीन पुलिसकर्मियों को गैरपेशेवर रवैया अपनाने पर निलंबित कर दिया गया है.  इस मामले में कुल आठ पुलिसकर्मी घायल हुये हैं. 

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि यह घटना पार्किंग को लेकर शुरू हुई अथवा टेम्पो चालक ने पहले पुलिस की गाड़ी को टक्कर मारी. यह जांच का विषय है. 

उन्होंने कहा कि हमले के बाद पुलिस कर्मियों को टेम्पो चालक पर काबू पाकर उसे थाने लाना चाहिए था.