CISF के 7 कुत्ते हुए रिटायर, रिटायरमेंट सेरेमनी में भावुक हुए जवान

सीआईएसफ के पास कुल 60 अलग-अलग किस्म के ट्रेंड डॉग हैं, जो किसी भी मॉकड्रिल और तलाशी अभियान का हिस्सा बनते हैं. उनमें से अब सात कुत्तों को सीआईएसफ ने रिटायर कर दिया है. हालांकि इससे पहले भी ज्यादा उम्र या बीमार होने पर कुत्तों को रिटायर किया जाता रहा है, लेकिन पहली बार एक साथ सात कुत्तों की रिटायरमेंट पर एक सेरेमनी का आयोजन किया.

CISF के 7 कुत्ते हुए रिटायर, रिटायरमेंट सेरेमनी में भावुक हुए जवान
CISF के 7 कुत्ते रिटायर.

नई दिल्ली: आपने इंसानों की रिटायरमेंट सेरेमनी के बारे में तो सुना होगा, लेकिन कभी कुत्तों की के लिए ऐसे आयोजन के बारे में नहीं सुना होगा, लेकिन सीआईएसफ (CISF) की दिल्ली मेट्रो यूनिट ने मंगलवार को अपने 7 कुत्तों के रिटायमेंट पर एक भव्य आयोजन शास्त्री पार्क स्टेशन के पास किया. इस कार्यक्रम में करीब 10 साल तक सीआईएसफ को अपनी सेवाएं दे चुके इन सात कुत्तों को बाकायदा गोल्ड मेडल और प्रशस्ति पत्र दिया गया. 

इसके बाद इन सातों कुत्तों को दिल्ली के जंगपुरा की एक एनजीओ को इनकी देखभाल के लिए सौंप दिया. इस मौके पर मौजूद सीआईएसफ के जवान भी भावुक हो गए और कुत्तों से बिछड़ने के गम में उनके साथ सेल्फी लेने लगे.

दरअसल, सीआईएसफ के पास कुल 60 अलग-अलग किस्म के ट्रेंड डॉग हैं, जो किसी भी मॉकड्रिल और तलाशी अभियान का हिस्सा बनते हैं. उनमें से अब सात कुत्तों को सीआईएसफ ने रिटायर कर दिया है. हालांकि इससे पहले भी ज्यादा उम्र या बीमार होने पर कुत्तों को रिटायर किया जाता रहा है, लेकिन पहली बार एक साथ सात कुत्तों की रिटायरमेंट पर एक सेरेमनी का आयोजन किया और ठीक इंसानों की तर्ज पर ही इनको भी रिटायर किया गया.

कुत्तों के रिटायरमेंट के मौके पर सीआईएसफ के डिप्टी कमांडेंट रमन कुमार ने ZEE न्यूज़ को बताया कि 'पहली बार हमने अपनी डॉग स्क्वॉयड के सात स्वान (अलग अलग किस्म के कुत्ते) को रिटायरमेंट के दौरान उनको सम्मानित किया. अब ये अपनी बाकी की ज़िंदगी एक एनजीओ के पास गुजारेंगे, हमारी तरफ से एक-दो लोग हर महीने इनको जाकर देखेंगे कि इनकी तबियत कैसी है. इनके विदा होने का हम सबको बेहद दुखी हैं.'