close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

घरवाले पढ़ाई के लिए बोलते थे, तो दिल्ली भाग आई लड़की; RPF ने परिवार से मिलवाया

मासूम बच्चों के गायब होने के मामले लगातार बढ़ रहे हैं.

घरवाले पढ़ाई के लिए बोलते थे, तो दिल्ली भाग आई लड़की; RPF ने परिवार से मिलवाया
RPF ने लड़की को परिवार से मिलवाया.

नई दिल्ली: राजस्थान के जयपुर की रहने वाली एक बच्ची पढ़ाई के प्रेशर से बचने के लिए घर से भागकर दिल्ली पहुंच गई. गुमशुदगी की सूचना मिलने पर रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स (RPF) ने मासूम को गलत हाथों में जाने से बचाकर उसके घरवालों को सौंप दिया.

रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स के सीनियर ऑफिसर ने बताया कि बुधवार दोपहर को उनको जयपुर रेलवे स्टेशन के कंट्रोल रूम से जानकारी मिली की एक मासूम बच्ची घर से भागकर ट्रेन से दिल्ली आ रही है. उसी बीच सफदरजंग रेलवे स्टेशन के एसएचओ नितिन मेहरा को जानकारी मिली तो उन्होंने तुरंत एक टीम तैयार की और जब जम्मूतवी- इंदौर एक्सप्रेस दोपहर 3 बजकर 45 मिनट पर जैसे ही सफदरजंग रेलवे स्टेशन पर पहुंची तो उस ट्रेन के हर एक कोच को चेक किया. तभी जनरल कोच में एक मासूम बच्ची डरी-सहमी बैठी हुई थी. उस मासूम को आरपीएफ का स्टाफ ट्रेन से उतारकर अपने साथ ले गया. मासूम बच्ची घबराई हुई थी. जब उससे पूछा तो वह रोने लगी. फिर उसे खाना खिलाया गया. कुछ देर बाद जब बच्ची नॉर्मल हुई तो उसने बताया की वह अपने घर से भागकर आई है. उसके घर वाले उसे हर रोज पढ़ाई के लिए बोलते थे जिससे परेशान होकर उसने ये कदम उठाया. कुछ ही देर बाद बच्ची के परिवार वाले पहुंच गए और आरपीएफ ने बच्ची को उसके परिवार को सौंप दिया.

गनीमत रही कि सही समय पर परिवार ने आरपीएफ को जानकारी दी. अगर कुछ देरी हो जाती तो बच्ची का मिलना मुश्किल था, क्योंकि बच्चा चोर गैंग मौका मिलते ही ऐसे बच्चों को अपना शिकार बना लेता है और मासूम बच्चियों को गलत हाथों में सौदा कर दिया जाता. इससे पहले भी आरपीएफ ऐसे ही कई बच्चों को परिवार से मिला चुकी है जो घर से भाग जाते हैं.