लड़की ने पूर्व प्रेमी को प्रेम जाल में फंसाया, आंखों पर पट्टी बांधी और गला रेत दिया

कुछ दिनों पहले नोएडा के सेक्टर 168 में एक ऑटो चालक इसराफिल का शव मृत अवस्था में मिला था.  अब पुलिस ने इस हत्या के आरोप में उसकी प्रेमिका सायरा और इन दोनों के दोस्त रहीम को गिरफ्तार कर लिया है.

लड़की ने पूर्व प्रेमी को प्रेम जाल में फंसाया, आंखों पर पट्टी बांधी और गला रेत दिया

नई दिल्ली : कुछ दिनों पहले नोएडा के सेक्टर 168 में हुई एक ऑटो ड्राइवर की हत्या की गुत्थी को पुलिस ने सुलझाने का दावा किया है. पुलिस के अनुसार जो कहानी सामने आई है, वह किसी संस्पेंस थ्रिलर फिल्मी कहानी से कम नहीं है. इसमें प्यार, धोखा, ब्लेमेलिंग, धमकी और अंत में हत्या सब कुछ है. कुछ दिनों पहले नोएडा के सेक्टर 168 में एक ऑटो चालक इसराफिल का शव मृत अवस्था में मिला था.  अब पुलिस ने इस हत्या के आरोप में उसकी प्रेमिका सायरा और इन दोनों के दोस्त रहीम को गिरफ्तार कर लिया है.

पुलिस के अनुसार, पूर्व प्रेमिका ने इसराफिल को झूठे प्रेम के जाल में फंसाकर बुलाया और धोखे से उसकी आंखों पर पट्टी बांधकर उसके गले पर चाकू से वार कर दिया. टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, एसएसपी डॉ. अजयपाल शर्मा ने बताया कि मृतक इसराफिल बिहार के कटिहार का रहने वाला था. वह यहां पर बरौला गांव में रहता था और ऑटो चलाता था. 3 सितंबर को उसकी हत्या कर दी गई थी, लेकिन मौका ए वारदात पर न तो उसका ऑटो मिला और न ही उसका पर्स.

 रफ्तार और शराब के कॉकटेल में युवक ने फुटपाथ पर सो रहे चार लोगों को रौंदा

पुलिस के लिए ये एक अंधे कत्ल की गुत्थी को सुलझाने जैसा था. पुलिस ने जब अपनी तफ्तीश आगे बढ़ाई तो पता चला कि प्रेम त्रिकोण का मामला है. इसमें 22 साल की सायरा नाम की लड़की पहले इसराफिल से प्यार करती थी, बाद में उसके प्रेम संबंध रहीम से हो गए. 4 साल पहले एक ट्रेन यात्रा के दौरान इसराफिल की मुलाकात सायरा से हुई थी. उस समय इसराफिल और रहीम साथ में थे. जांच में पता चला कि करीब 4 साल पहले इसराफिल की ट्रेन में मुजफ्फरपुर की सायरा से मुलाकात हुई थी. तब इसराफिल का दोस्त रहीम भी साथ में था. दोनों को कटियार जाना था, लेकिन वह पहले उसे छोड़ने के लिए मुजफ्फरपुर उसके साथ गए. बाद में कटियार लौटे. यहीं से दोनों सायरा को अपनी ओर आकर्षित करने में जुट गए. लेकिन कामयाबी इसराफिल को मिली, सायरा के साथ उसके प्रेम संबंध कायम हो गए. सायरा दिल्ली के द्वारका में काम करती थी. वहीं इसराफिल नोएडा में काम करता था.

दोनों के प्रेम संबंध चलते रहे. इसी दौरान दो साल पहले इसराफिल का निकाह दूसरी लड़की से हो गया. इसके बाद सायरा की जिंदगी में रहीम की वापसी हो गई. हालांकि इस दौरान कई दिनों तक सायरा के इसराफिल से भी प्रेम संबंध बने रहे. लेकिन बाद में सायरा ने इसराफिल से दूरी बनानी शुरू कर दी. यहीं से दोनों के संबंध बिगड़ने शुरू हो गए.

हिन्दू लड़के ने मुस्लिम लड़की से की थी लव मैरिज, घरवालों ने की हत्या

पुलिस के अनुसार, सायरा का दावा है कि इसराफिल उसे धमकी देने लगा था. वह चाहता था कि सायरा के साथ उसके शारीरिक संबंध कायम रहें. ऐसा न करने पर वह उसे ब्लेकमेल करने की धमकी देता रहा. इसके बाद ही सायरा के दिमाग में इसराफिल को रास्ते से हटाने का आइडिया आया. उसने रहीम को फोन किया. वह नॉर्थ ईस्ट एक्सप्रेस पकड़कर कटियार से आनंद विहार आ गया. 2 सितंबर को सायरा और रहीम ग्रीन पार्क मेट्रो स्टेशन पर मिले. यहीं दोनों ने अपना प्लान बनाया.

रहीम ने सायरा को धारदार चाकू खरीदने के लिए कहा. इसके बाद दोनों मेट्रो से नोएडा पहुंचे. रहीम गोल्फ कोर्स और सायरा सिटी सेंटर पर उतर गई. यहां इसराफिल उसका इंतजार कर रहा था. इसराफिल सायरा को ऑटो से नोएडा एक्सप्रेस वे पर ले गया. रहीम दूसरे ऑटो से इनके पीछे था. सेक्टर-168 में एक बिजनेस पार्क के पास इसराफिल ने ऑटो रोक दिया. वहां सायरा के साथ झाड़ियों के पीछे चला गया. यहां पर सायरा ने उसे कामोत्तेजक बातों में फंसाकर उसकी आंखों पर पट्टी बांधी और चाकू से गले पर वार कर दिया. इसके बाद वहां रहीम भी पहुंच गया, उसने कई बार इसराफिल पर चाकू से वार किया. पुलिस ने अनुसार, उसने उसके सिर को ईंट से कुचल दिया.

इसके बाद दोनों इसराफिल का ऑटो लेकर एडवांट बिल्डिंग पहुंचे. वहां से रहीम दूसरा ऑटो पकड़कर दिल्ली एयरपोर्ट पहुंचा और फ्लाइट से बिहार चला गया. सायरा द्वारका में अपने घर चली गई. दूसरे दिन इसराफिल की पत्नी की सूचना पर उसके शव को बरामद किया गया. पुलिस ने जब जांच शुरू की तो इसराफिल के फोन के अलावा दो और फोन की लोकेशन वहां पर मिली. इसके बाद ही रहीम और सायरा पर पुलिस का शक गया और दोनों पकड़े गए.