close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

AAP विधायक दिनेश मोहनिया को प्रेस कांफ्रेंस के बीच में ही उठाकर ले गयी पुलिस, महिलाओं से बदसलूकी का आरोप

संगम विहार से आम आदमी पार्टी के विधायक दिनेश मोहनिया को पुलिस नाटकीय अंदाज में उठाकर अपने साथ ले गई। जिस समय दिनेश मोहनिया प्रेस कांफ्रेंस कर रहे थे, दिल्ली पुलिस के अधिकारी वहां आए और उन्हें जबरन खींचते हुए अपने साथ ले गए। मौके पर मीडिया के कैमरे थे जिससे अफरातफरी की स्थिति मच गई।पुलिस ने विधायक को महिलाओं से बदसलूकी के मामले में गिरफ्तार किया है।

AAP विधायक दिनेश मोहनिया को प्रेस कांफ्रेंस के बीच में ही उठाकर ले गयी पुलिस, महिलाओं से बदसलूकी का आरोप

नई दिल्ली: संगम विहार से आम आदमी पार्टी के विधायक दिनेश मोहनिया को पुलिस नाटकीय अंदाज में उठाकर अपने साथ ले गई। जिस समय दिनेश मोहनिया प्रेस कांफ्रेंस कर रहे थे, दिल्ली पुलिस के अधिकारी वहां आए और उन्हें जबरन खींचते हुए अपने साथ ले गए। मौके पर मीडिया के कैमरे थे जिससे अफरातफरी की स्थिति मच गई।पुलिस ने विधायक को महिलाओं से बदसलूकी के मामले में गिरफ्तार किया है।

संयुक्त पुलिस आयुक्त (दक्षिण पूर्व) आरपी उपाध्याय ने बताया, ‘मोहनिया को धारा 323 (जानबूझकर नुकसान पहुंचाना), 506 (आपराधिक धमकी), 509 (महिला शील भंग करने की मंशा से की गई हरकत, इशारा, शब्द), 354 (शील भंग करने के मकसद से महिला के साथ मारपीट या जोर-जबर्दस्ती करना), 354ए (यौन उत्पीड़न), 354 बी:महिला को निर्वस्त्र करने की मंशा से बल प्रयोग करना या मारपीट करना: और 354सी (गलत निगाह से देखना) के तहत मामला दर्ज किया गया है।’

संगम विहार क्षेत्र से विधायक मोहनिया की गिरफ्तारी के बाद केजरीवाल ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए ट्वीट किया, ‘मोदी ने दिल्ली में आपातकाल घोषित कर दिया। दिल्ली की जनता ने जिनको चुना उनकी गिरफ्तारी की जा रही है, छापा मारा जा रहा है, आतंकित किया जा रहा है, फर्जी मामले दर्ज किए जा रहे हैं।’

एक अन्य ट्वीट में केजरीवाल ने कहा, ‘दिनेश मोहनिया को सभी टीवी कैमरों के सामने संवाददाता सम्मेलन में गिरफ्तार किया गया। मोदी क्या संदेश देना चाहते हैं?’ फरवरी, 2015 में दिल्ली में आप सरकार बनने के बाद से दिल्ली पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए मोहनिया आठवें आप विधायक हैं।

विधायक पर 23 जून को नेब सराय थाने में महिलाओं के एक समूह की शिकायत के बाद नेब सराय पुलिस थाने में मोहनिया के खिलाफ भादंसं की धारा 323, 506 और 509 के तहत मामला दर्ज किया गया था। पुलिस ने कल मजिस्ट्रेट के समक्ष दो और शिकायतकर्ताओं के पेश होने के बाद मोहनिया के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 354, 354ए, 354 और 354सी जोड़ दी तथा शिकायतकर्ताओं के बयान दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 164 के तहत दर्ज किया गया।

विधायक पर 23 जून को महिलाओं के एक समूह से कथित बदसलूकी करने का आरोप है। महिलाओं का समूह अपने इलाके में जल संकट की शिकायत लेकर विधायक के पास गया था।

मोहनिया ने अपने खिलाफ लगाये गये आरोपों को ‘आधारहीन’ बताते हुए उन्हें खारिज किया।उन्होंने कहा, ‘मैं पुलिस जांच में सहयोग के लिए तैयार हूं लेकिन मेरे खिलाफ लगाये गये आरोप निराधार है।’ वहीं तुगलकाबाद इलाके में कल 60 वर्षीय व्यक्ति को कथित तौर पर थप्पड़ मारने के लिए गोविंदपुरी पुलिस स्टेशन में भी मोहनिया के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।इमरजेंसी की याद के दिन दिल्ली में अघोषित इमरजेंसी। मोदी जी! हम सबको ऐसे फर्जी आरोपों में जेल में डाल दोगे तब भी हम नहीं झुकने वाले।

गौरतलब है कि दिल्ली में आम आदमी पार्टी के विधायक दिनेश मोहनिया ने पानी न मिलने की शिकायत लेकर आए एक बुज़ुर्ग को थप्पड़ मार दिया था। दो दिन पहले भी मोहनिया ने ऐसी ही शिकायत लेकर आए कुछ लोगों के साथ मारपीट की थी।

इलाके के एक बुजुर्ग राकेश का आरोप है कि जब वो दिनेश मोहनिया को नहीं पहचान पाए और पानी की संकट के बारे में बात की तो आप विधायक ने उन्हें थप्पड़ मारा। विधायक के समर्थकों पर बुजुर्ग का हाथ मोड़ने का भी आरोप है।

पुलिस ने बृहस्पतिवार को कोर्ट में पीड़िता के सीआरपीसी की धारा 164 के तहत बयान दर्ज कराए। जे ब्लाक, संगम विहार निवासी जरीना शिकायत में कहा था कि स्थानीय निवासी पानी की समस्या को लेकर विधायक के कार्यालय में 22 जून को शिकायत करने गए।

इलाके के लोगों के मुताबिक, संगम विहार से विधायक तुगलकाबाद इलाके में लोगों से मिल रहे थे। इसी दौरान एक बुज़ुर्ग ने पानी न मिलने की शिकायत की और कहा कि वह दिनेश मोहनिया को नहीं पहचानते।

इसी से नाराज़ विधायक ने उन्हें थप्पड़ जड़ दिया। इतना ही नहीं विधायक के साथ मौजूद लोगों ने भी बुज़ुर्ग से बदतमीजी की थी।