close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कांग्रेस और BJP मिलकर दिल्ली विधानसभा का रजत जयंती समारोह विफल बनाने में लगे हैं: AAP

शनिवार को आयोजित कार्यक्रम में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल मुख्य अतिथि होंगे . 

कांग्रेस और BJP मिलकर दिल्ली विधानसभा का रजत जयंती समारोह विफल बनाने में लगे हैं: AAP
आप प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: आप ने बीजेपी और कांग्रेस पर दिल्ली विधानसभा की शक्तियां ख़त्म करने का आरोप लगाते हुए कहा है कि दोनों दल मिलकर विधानसभा का रजत जयंती समारोह विफल बनाने में लगे हैं. 

आप के प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने शुक्रवार को कहा, 'इस तरह के जितने भी समारोह विभिन्न राज्यों में आयोजित होते हैं उनमें राष्ट्रपति बतौर मुख्य अतिथि शामिल होते हैं. दिल्ली में भी विधानसभा के रजत जयंती समारोह के लिए राष्ट्रपति को न्योता भेजा गया, परंतु उन्होंने ठुकरा दिया.'

भारद्वाज ने कहा,‘राष्ट्रपति, दलगत भावना से ऊपर उठकर इन कार्यक्रमों में जाते रहे हैं . लेकिन इस कार्यक्रम के लिए राष्ट्रपति महोदय ने विधानसभा अध्यक्ष को मिलने का समय तक नहीं दिया .’

उल्लेखनीय है कि दिल्ली विधानसभा के 15 दिसंबर को आयोजित होने वाली रजत जयंती समारोह में विधानसभा के सभी पूर्व सदस्यों को आमंत्रित किया गया है. कांग्रेस पहले ही कार्यक्रम का बहिष्कार करने की घोषणा कर चुकी है. 

भारद्वाज ने कहा कि राष्ट्रपति महोदय से समय नहीं मिल पाने के बाद वरिष्ठ बीजेपी नेता लालकृष्ण अडवाणी को आमंत्रित करने की कोशिश की गई, क्योंकि वह दिल्ली मेट्रोपॉलिटन काउन्सिल के पहले अध्यक्ष थे. उन्होंने अपने लिखित संदेश में स्वीकृति भी दे दी थी, लेकिन बाद में उन्होंने मना कर दिया.

भारद्वाज ने कहा कि इस कड़ी में विधानसभा के लम्बे समय तक सदस्य रहे असम के राज्यपाल जगदीश मुखी को भी आमंत्रित किया गया. उन्होंने लिखित में निमंत्रण स्वीकार कर कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए दिल्ली भी आ गए, मगर ऐन मौक़े पर उन्होंने भी मना कर दिया .  आप प्रवक्ता ने इसे राजनीति से प्रेरित बताते हुए कहा “दिल्ली और देश की जनता यह सब देख रही है.'

विधानसभा के एक अधिकारी ने बताया कि शनिवार को आयोजित कार्यक्रम में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल मुख्य अतिथि होंगे . अधिकारी ने बताया कि पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित और केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन सहित सभी पूर्व विधायकों को कार्यक्रम के लिए आमंत्रित किया गया है लेकिन अब तक किसी ने इसमें शामिल होने की सूचना नहीं दी है. 

(इनपुट - भाषा)