close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

AAP विधायक अलका लांबा ने कहा,'पार्टी छोड़ने के लिए मुझे कारण खोजने की जरूरत नहीं'

अलका लांबा ने रविवार को दावा किया था कि आप प्रमुख व दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उन्हें ट्विटर पर अनफालो कर दिया है.. 

AAP विधायक अलका लांबा ने कहा,'पार्टी छोड़ने के लिए मुझे कारण खोजने की जरूरत नहीं'
आप विधायक अलका लांबा (फाइल फोटो साभार @AAPkialkalamba)

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी में एक बार फिर से खींचतान की खबरें आ रही हैं. आप विधायक अलका लांबा ने ट्वीट करके कहा है कि उन्हें पार्टी छोड़ने के लिए कोई कारण खोजने की जरूरत नहीं है. बता दे  अलका लांबा ने रविवार को दावा किया था कि आप प्रमुख व दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उन्हें ट्विटर पर अनफालो कर दिया है.. 

मंगलवार को अलका लांबा ने ट्वीट किया,'कारण खोजने की मुझे ही नही बल्कि बहुत से दूसरे विधायकों को भी कोई जरूरत नही है. पहले से ही बहुत से ऐसे कारण मौजूद होने के बावजूद भी मेरी तरह दूसरे विधायक आज भी पार्टी से जुड़े हुए हैं, इसे ही विधायकों की कमज़ोरी समझा जा रहा है. अलका लांबा ने लिखा कि जनप्रतिनिधी के तौर पर वह अपनी सेवाएं जारी रखेंगी. 

अलका ने यहा ट्वीट आम आदमी पार्टी के उस बयान के बाद किया जिसमें कहा गया कि अलका लाम्बा पार्टी छोड़ना चाहती हैं और ऐसा करने के लिए वह वजह तलाश रही हैं. पार्टी की यह प्रतिक्रिया लाम्बा के उस दावे के बाद आई है, जिसमें लाम्बा ने रविवार को कहा था कि आप प्रमुख व दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उन्हें ट्विटर पर अनफालो कर दिया है.

'पार्टी की उनको निकालने की कोई मंशा नहीं है' 
न्यूज एजेंसी IANS के मुताबिक आप के प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने इस मसले पर कहा कि पार्टी की उनको निकालने की कोई मंशा नहीं है. उन्होंने कहा, 'वह (लाम्बा) पार्टी छोड़ना चाहती हैं और ऐसा करने के लिए वजह तलाश रही हैं.' सौरभ भारद्वाज ने कहा, 'पार्टी को उन्हें निकालने की कोई मंशा नहीं है. एक पार्टी के लिए लोगों को निलंबित करना बहुत सहज है. हमने निलंबन के बाद भी लोगों को वापस लिया है, जब उनमें बदलाव देखा है.'  उन्होंने कहा,'आपको पार्टी में निश्चित अनुशासन व शिष्टाचार का पालन करना होता है.' 

ट्विटर पर अनफालों करने के संदर्भ में उन्होंने कहा कि यह पूरी तरह से मुख्यमंत्री की पसंद है कि वह किसे फालो करना चाहते हैं. लाम्बा ने दिसंबर में दावा किया था कि पार्टी ने उनसे इस्तीफा मांगा है. उन्होंने कहा कि उन्हें व्हाट्सप ग्रुप से भी हटा दिया गया है. पार्टी ने इससे इनकार किया है.

(इनपुट - भाषा)