अजय माकन ने कहा,'सीलिंग के मुद्दे पर सो रहे ही हैं केंद्र और दिल्ली की सरकारें'

अजय माकन ने कहा कि इस मुद्दे पर पार्टी 31 अगस्त को मुख्यमंत्री केजरीवाल के आवास के बाहर ‘विशाल प्रदर्शन’ करेगी जिसमें कारोबार से जुड़े लोग भी शामिल होंगे. 

अजय माकन ने कहा,'सीलिंग के मुद्दे पर सो रहे ही हैं केंद्र और दिल्ली की सरकारें'
अजय माकन ने कहा, ‘दिल्ली में 8,75,308 औद्योगिक इकाइयां हैं और इन पर सीलिंग का खतरा मंडरा रहा है. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  दिल्ली कांग्रेस ने राष्ट्रीय राजधानी में सीलिंग के मुद्दे को लेकर मंगलवार को केंद्र एवं अरविंद केजरीवाल सरकार पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि लाखों लोग बेरोजगार हो रहे हैं, लेकिन ये दोनों सरकारें सो रही हैं.

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय माकन ने कहा कि इस मुद्दे पर पार्टी 31 अगस्त को मुख्यमंत्री केजरीवाल के आवास के बाहर ‘विशाल प्रदर्शन’ करेगी जिसमें कारोबार से जुड़े लोग भी शामिल होंगे.

अजय माकन कहा कि मास्टर प्लान में इसका प्रावधान किया गया था जिन इलाकों में 70 फीसदी छोटी या बड़ी औद्योगिक इकाइयां होंगी उनको औद्योगिक क्षेत्र घोषित किया जाएगा, लेकिन अब ऐसे इलाकों में भी सीलिंग की जा रही है.

उन्होंने कहा,‘2005 की गजट अधिसूचना में इसका स्पष्ट तौर पर उल्लेख किया गया था. इसके कागजात हमने दिल्ली सरकार को भी दिए. उसने अब तक कोई कदम नहीं उठाया. केंद्र और दिल्ली सरकार दोनों सो रही हैं.’ 

माकन ने कहा,‘दिल्ली में 8,75,308 औद्योगिक इकाइयां हैं और इन पर सीलिंग का खतरा मंडरा रहा है. दिल्ली में लाखों लोग बेरोजगार हो रहे हैं. ऐसे घरेलू उद्योगों को सीलिंग का निशाना बनाया जा रहा है. हमारी मांग है कि ऐसे उद्योगों की सीलिंग और बंद होने से सुरक्षा की जाए जिनसे किसी तरह का प्रदूषण नहीं होता है.’

(इनपुट - भाषा)