close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

केजरीवाल का दिल्लीवालों को तोहफा, सीएम ने DTC की 100 बसों को दिखाई हरी झंडी

सीएम का कहना है कि दिल्ली सरकार अगले 6-7 महीनों में राष्ट्रीय राजधानी की सड़कों पर 3000 बसें उतारने वाली है. जिसमें से 1000 इलेक्ट्रिक बसें भी दिल्ली में आएंगी. 

केजरीवाल का दिल्लीवालों को तोहफा, सीएम ने DTC की 100 बसों को दिखाई हरी झंडी

नई दिल्ली: दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल गुरुवार को दिल्ली की जनता को फिर एक तोहफा दिया, सीएम ने आज दिल्ली में आने वाली एक हजार स्टैंडर्ड फ्लोर बसों की खेप के तहत 100 नई बसों को राजघाट डिपो से हरी झंडी दिखाई. ये बसें खास हैं, इन बसों में हाइड्रोलिक लिफ्ट,पैनिक बटन,सीसीटीवी कैमरे,जीपीएस समेत सभी आधुनिकतम सुविधाएं उपलब्ध हैं. इस दौरान परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत व अन्य अधिकारी मौजूद थे. इससे पहले मुख्यमंत्री 25 अक्टूबर को भी 104 नई बसों को द्वारका सेक्टर 22 डिपो से हरी झंडी दिखाई थी.

इस मौके पर सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा, 'मैं दिल्ली के लोगों को बधाई देना चाहता हूं कि राष्ट्रीय राजधानी की सड़कों पर 100 नई बसों को हरी झंडी दिखाई गई. दिल्ली को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा, स्वास्थ्य के लिए पूरी दुनिया में पहचाना जा रहा है, जल्द ही दिल्ली को अपने पब्लिक बस सिस्टम के लिए भी जाना जाएगा...

...दिल्ली सरकार अगले 6-7 महीनों में राष्ट्रीय राजधानी की सड़कों पर 3000 बसें उतारने वाली है. जिसमें से 1000 इलेक्ट्रिक बसें भी दिल्ली में आएंगी. यह भारत में किसी राज्य में अब तक का सबसे बड़ा इलेक्ट्रिक बसों का बेड़ा होगा. बसें सीसीटीवी कैमरे, पैनिक अलार्म बटन, अलग-अलग एबल्ड के लिए हाइड्रोलिक लिफ्ट और सभी आधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित हैं.'

नई क्लस्टर बसों के समय पर रखरखाव के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि बसों के फीचर मेंटेंर रहेंगे. पहले सुविधा डिलीवरी की समस्या था. अब ऐसा नहीं होगा. बसों का रखरखाव होगा. जैसे हम अस्पतालों का रखरखाव कर रहे, वैसे ही बसों का भी करेंगे. स्कूलों और अस्पतालों को बनाए रखने के लिए पिछली सरकारों को भी बजट स्वीकृत किए गए थे, लेकिन केवल इस सरकार ने उस बजट के साथ स्कूलों और अस्पतालों को बेहतर बनाने पर काम किया है. उसी तरह यह सरकार बसों की सभी सुविधाओं का समय पर रखरखाव सुनिश्चित करेगी. 

इस तरह की हैं सुविधाएं 
आँरेंज कलर की ये नई बसें 37 सीटों वाली हैं. सभी बसों में हाइड्रोलिक लिफ्ट है. जिससे दिव्यांग जनों को बस में सवार होने में सहूलियत होगी. . इसके अलावा बस में 14 पैनिक बटन लगाए गए हैं. हर साइड में 7-7 पैनिक बटन हैं. इसके साथ ही तीन सीसीसीटीवी कैमरे अंदर लगाए गए हैं. 

बसों की मुख्य विशेषताएं हैं
व्हील चेयर से चलने वाले सवारियों के बोर्डिंग और अलाइटिंग की सुविधा के लिए अलग-अलग एबल्ड पर्सन के लिए हाइड्रोलिक लिफ्ट्स, महिला सुरक्षा के लिए सीसीटीवी कैमरे, हूटर के साथ पैनिक बटन, बस की ट्रैकिंग के लिए जीपीएस सिस्टम, आरामदेह सीटें, पैनिक बटन, हर बस में यात्री केबिन में विभिन्न प्वाइंट पर यह पैनिक बटन होंगे. एक बार जब कोई यात्री पैनिक बटन दबाएगा, तो बस का सीसीटीवी फुटेज सीधे सेंट्रल कमांड सेंटर पर चला जाएगा और पुलिस हॉटलाइन तुरंत सक्रिय हो जाएगी. बस का जीपीएस लोकेशन स्वत बैकएंड तक पहुंच जाएगा. पैनिक बटन हर बस में सीसीटीवी और जीपीएस के ज्वाइंट सेट के साथ हैं.

इन रूटों पर चलेंगी यह 100 बसें 
नरेला से मोरी गेट टर्मिनल - 18, पल्ला से पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन - 17, निलवाल से करमपुरा टर्मिनल - 6, उत्तम नगर टर्मिनल से जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम - 8, नरेला से पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन - 12, आदर्श नगर से केंद्रीय टर्मिनल - 19, नांगलोई से नरेला -  20