close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पंजाब-हरियाणा व केंद्र सरकार पराली जलाने से रोकने पर टाइम लाइन तय करें: केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पंजाब, हरियाण व केंद्र सरकार से पराली जलाने पर रोक के लिए टाइम लाइन की मांग की है. 

पंजाब-हरियाणा व केंद्र सरकार पराली जलाने से रोकने पर टाइम लाइन तय करें: केजरीवाल
सीएम केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में प्रदूषण काफी हो गया है.

नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पंजाब, हरियाण व केंद्र सरकार से पराली जलाने पर रोक के लिए टाइम लाइन की मांग की है. उन्होंने कहा कि दिल्ली की जनता का मजाक उड़ाने की बजाय पराली जलाने से रोकने के लिए कदम उठाए. दिल्ली की जनता को गाली देना बंद करें. उन्होंने कहा कि दिल्ली की जनता ने दिल्ली का अपना प्रदूषण कम करने के लिए सब कुछ किया, लेकिन अब पराली के धुंए ने दिल्ली की हवा को खतरनाक बना दिया है.

सीएम केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में प्रदूषण काफी हो गया है. दिल्ली में धुंआ ही धुंआ है. कुछ लोग पूछ रहे हैं, यह प्रदूषण पराली का कैसे है. 30 सितंबर को आसमान साफ था. नीला आसमान व तारे दिखते थें. आज कोहरा व धुंध है. जो कह रहे हैं पराली का प्रदूषण नहीं है तो 30 सितंबर और 30 अक्टूबर के बीच क्या बदला है? क्या जनसंख्या बढ़ गई, इंडस्ट्री बढ़ गई, वाहन आ गया. ऐसा तो है नहीं. मैं दिल्ली के लोगों की सेहत को लेकर चिंतत हूं. हमलोग पूरी कोशिश कर रहे हैं. जो हमारे बस में है, सब कर रहे हैं. दिल्ली की जनता भी बहुत कर रही है और भी बहुत कुछ करना है. 

केजरीवाल ने कहा, "दिल्ली की जनता पर विपक्षी पार्टियां दोष मढ़ रही हैं, यह ठीक नहीं है. एक नेता एक दिन के उपवास पर हैं. यह गंभीर मुद्दे का मजाक उड़ाता है. दिल्ली के जनता का मजाक उड़ाता है. वह समझ ही नहीं पा रहे हैं कि यह कितनी बड़ी समस्या है. इसे दूर करने के लिए मेहनत करनी होगी. हमें बड़े बदलाव करना है तो मेहनत करनी पड़ेगी. डेंगू पर हम लोगों ने कितनी मेहनत की. लोगों के प्रयास से हमने डेंगू पर काबू पाया. अब ऑड-ईवन ला रहे हैं." 

पराली जलाने से रोकने पर टाइम लाइन तय करें
सीएम ने कहा, "आज मैं एक स्कूल गया था. वहां बच्चों से बातचीत में पता चला कि 15 से 20 प्रतिशत बच्चों ने ही पटाखें जलाए. हमें अपने बच्चों की तारीफ करनी चाहिए. मुझे दुख हुआ कि दीवाली पर विपक्षी नेता सोशल मीडिया पर लोगों को उकसा रहे थे कि पटाखें जलाएं. यह ठीक नहीं है. दिल्ली के लोगों के स्वास्थ से खेलना ठीक नहीं है. हम पंजाब और हरियाणा व केंद्र सरकार से टाइम लाइन चाहते हैं कि आप कब पराली जलाना बंद करेंगे. किसानों को कब मशीन देंगे. आपकी जवाबदेही तय होनी चाहिए." 

ऑड-ईवन का नोटिफिकेशन हो गया
सीएम ने कहा ऑड-ईवन का नोटिफिकेशन हो गया. सोमवार से इसे लागू किया जाएगा. कैब ओवर रेट न करने को कहा गया है. आटो किराया न बढ़ाए. मीटर से चलें. किराया बढ़ने पर कार्रवाई होगी. सीएम ने कहा सरकारी दफ्तर अब ऑड-ईवन के दौरान  9 30 बजे खुलेंगे. कुछ 10 30 बजे खुलेंगे. अभी यह सरकारी दफ्तर खुलने का आदेश है. प्राइवेट को कोई आदेश नहीं है. स्कूलों की छुट्टी 5 नवंबर तक कर दी गई है.

बच्चों को स्कूल लाने ले जाने पर ऑड-ईवन से छूट
सीएम ने कहा बच्चों को छोड़ने जाना 8 बजे से पहले का है. इस कारण छूट. दोपहर में अगर बच्चे को लाने जा रहे हैं तो छूट मिलेगी. यह व्यवस्था ट्रस्ट पर है. जैसे इमरजेंसी व्यवस्था है, वैसे ही बच्चों को स्कूल से लाने व ले जाने में भी ट्रस्ट के आधार पर छूट मिलेगी.  यह पूरी व्यवस्था ट्रस्ट पर है. तभी यह सफल हुई है.