close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

हरियाणा चुनाव : अशोक तंवर कांग्रेस के स्टार प्रचारक लेकिन सिद्धू का नाम नहीं

 हरियाणा में टिकट बेचे जाने का आरोप लगा चुके कांग्रेस की हरियाणा इकाई के पूर्व अध्यक्ष अशोक तंवर का नाम स्टार प्रचारकों की सूची में है. नवजोत सिंह सिद्धू का नाम इस सूची में नहीं है.

हरियाणा चुनाव : अशोक तंवर कांग्रेस के स्टार प्रचारक लेकिन सिद्धू का नाम नहीं
कांग्रेस ने हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए अपने स्टार प्रचारकों की सूची निर्वाचन आयोग को सौंप दी.

नई दिल्ली: कांग्रेस ने हरियाणा विधानसभा चुनाव (Haryana Assembly Elections 2019) के लिए अपने स्टार प्रचारकों की सूची शुक्रवार को निर्वाचन आयोग को सौंप दी. 90 सदस्यीय हरियाणा विधानसभा के लिए मतदान 21 अक्टूबर को होगा, जबकि मतगणना 24 अक्टूबर को होगी. हरियाणा में टिकट बेचे जाने का आरोप लगा चुके कांग्रेस की हरियाणा इकाई के पूर्व अध्यक्ष अशोक तंवर (Ashok Tanwar) का नाम स्टार प्रचारकों की सूची में है.

सूची में पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी के नाम हैं. पुडुचेरी के मुख्यमंत्री वी. नारायणसामी को छोड़कर बाकी सभी मुख्यमंत्रियों कैप्टन अमरिंदर सिंह, कमलनाथ, अशोक गहलोत और भूपेश बघेल के नाम भी स्टार प्रचारकों की इस सूची में हैं. लेकिन लोकसभा चुनाव में पार्टी के स्टार प्रचारकों में रहे नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) का नाम इस सूची में नहीं है. सूची में पूर्व मंत्री सलमान खुर्शीद, आनंद शर्मा और ज्योतिरादित्य सिंधिया सहित 40 नेताओं के नाम हैं. कुमारी शैलजा, कुलदीप बिश्नोई और रणदीप सुरजेवाला सहित कई हरियाणा के नेता भी इस सूची में शामिल हैं.

चुनाव प्रचार में नहीं दिख रहे कांग्रेस के प्रमुख चेहरे
महाराष्ट्र और हरियाणा में होने वाले विधानसभा चुनावों में बहुत कम समय रह गया है. कांग्रेस भाजपा से सत्ता हासिल करने की इच्छा तो जता रही है, मगर कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व ने अभी तक इन राज्यों में चुनाव प्रचार अभियान को आगे नहीं बढ़ाया है. कांग्रेस के स्टार प्रचारक माने जाने वाले सभी प्रमुख चेहरे अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा ने अभी तक महाराष्ट्र या हरियाणा में किसी भी रैली को संबोधित नहीं किया है. इन राज्यों में चुनाव प्रचार की कमान राज्य के नेता ही संभाल रहे हैं.

इन दोनों ही राज्यों में पार्टी के आंतरिक झगड़े सामने आए हैं. इन दोनों राज्यों में 21 अक्टूबर को चुनाव होने हैं, जबकि चुनाव प्रचार 19 अक्टूबर को समाप्त हो जाएगा. हालांकि, हरियाणा में कुमारी शैलजा और भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने गुरुग्राम से चुनाव प्रचार शुरू कर दिया है. कांग्रेस महाराष्ट्र में अपनी सहयोगी राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के नेता शरद पवार पर ही अधिक भरोसा कर रही है. कांग्रेस ने इस राज्य के विभिन्न क्षेत्रों के लिए स्थानीय नेताओं को जिम्मेदारियां सौंपी हैं.