close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

हरियाणा कांग्रेस में कलह, अशोक तंवर ने पार्टी में सारे पद छोड़े, प्रत्याशियों की घोषणा के बाद लिया फैसला

अशोक तंवर (Ashok Tanwar) ने आरोप लगाया है यह हरियाणा कांग्रेस (Congress) अब हुड्डा कांग्रेस (Congress) बन गई है. अशोक तंवर (Ashok Tanwar) ने सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखी है और टिकट वितरण के विरोध में उन्होंने कांग्रेस (Congress) सभी कमेटियों से इस्तीफा दिया है, हालांकि वह कांग्रेस (Congress) पार्टी में बने रहेंगे. 

हरियाणा कांग्रेस में कलह, अशोक तंवर ने पार्टी में सारे पद छोड़े, प्रत्याशियों की घोषणा के बाद लिया फैसला
भूपेंद्र सिंह हुड्डा को हरियाणा चुनाव की कमान सौंपे जाने से अशोक तंवर नाराज चल रहे हैं.

आशिफ एकबाल, चंडीगढ़: हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019 (Haryana Assembly Elections 2019) में कांग्रेस (Congress) की ओर से प्रत्याशियों की लिस्ट आने के साथ ही पार्टी में जारी कलह का पहला रिजल्ट सामने आ गया है. बीजेपी, इनेलो सहित सभी दल जहां चुनाव प्रचार में जुटे हैं, वहीं कांग्रेस (Congress) के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अशोक तंवर (Ashok Tanwar) ने पार्टी में सभी बड़े पदों से इस्तीफा दे दिया है. अशोक तंवर (Ashok Tanwar) ने आरोप लगाया है यह हरियाणा कांग्रेस (Congress) अब हुड्डा कांग्रेस (Congress) बन गई है. अशोक तंवर (Ashok Tanwar) ने सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखी है और टिकट वितरण के विरोध में उन्होंने कांग्रेस (Congress) सभी कमेटियों से इस्तीफा दिया है, हालांकि वह कांग्रेस (Congress) पार्टी में बने रहेंगे. उन्होंने कहा कि वह एक आम कांग्रेस (Congress) कार्यकर्ता के तौर पर काम करते रहेंगे.

अशोक तंवर (Ashok Tanwar) ने यह भी कहा कि गुरुवार शाम उन्होंने टिकटों में खरीद-फरोख्त का जो आरोप लगाया था उसका सबूत हुआ वक्त आने पर आलाकमान को देंगे. तंवर ने कहा उनके प्रदेश अध्यक्ष रहते हुए जिन लोगों ने अपना खून पसीना बहाया कांग्रेस (Congress) को मजबूत करने के लिए संघर्ष किया उन सभी को दरकिनार कर दिया गया और भूपेंद्र सिंह हुड्डा (Bhupendra Singh Hooda) ने अपनी मनमर्जी से टिकट बांट दी. उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस (Congress) प्रत्याशियों की लिस्ट आने से 4 दिन पहले ही भूपेंद्र सिंह हुड्डा (Bhupendra Singh Hooda) के समर्थकों ने नॉमिनेशन शुरू कर दिया था.

उन्होंने यह भी दावा किया कि बीजेपी की हरियाणा से है और वह कांग्रेस (Congress) को मजबूत करने के लिए काम करते रहेंगे. उन्होंने साफ किया कि उनका संघर्ष जारी रहेगा और कार्यकर्ताओं की अनदेखी की गई है उस मामले को उठाते रहेंगे.

लाइव टीवी देखें-:

प्रत्याशियों सूची बयां कर रही कलह की पूरी कहानी
हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019 के लिए कांग्रेस (Congress) ने नॉमिनेशन की आखिरी तारीख से एक दिन पहले प्रत्याशियों का ऐलान किया है. कांग्रेस (Congress) की लिस्ट में प्रत्याशियों के नाम का आकंलन करें तो दिलचस्प बातें देखने को मिल रही हैं. क्योंकि सारी लड़ाई तो इसी बात की थी की आखिर अशोक तंवर (Ashok Tanwar) ऐसा क्या चाहते हैं जो भूपेन्द्र सिंह हुड्डा और कुमारी सैलेजा उनकी बात नहीं मान रहे हैं. अशोक तंवर (Ashok Tanwar) को कहीं ना कहीं इस बात का इल्म हो गया था कि प्रत्याशियों के चयन में उनकी बात नहीं मानी जाएगी. प्रत्याशियों की लिस्ट आने के 24 घंटे पहले से सही उन्होंने मोर्चा खोल दिया था. 

अपने समर्थकों के लाव लश्कर थे साथ 10 जनपथ सोनिया गांधी के आवास पर डेरा डाल दिया और खुब लंबा चौड़ा भाषण भी दिया. इसके बाद भी प्रत्याशियों के चयन में उनकी नहीं सुनी गई. अशोक तंवर (Ashok Tanwar) प्रेस वार्ता कर रहे हैं तो ये भी जानना बहुत जरूरी है कि आखिर पुरी लिस्ट में किसकी चली. कांग्रेस (Congress) में प्रत्याशियों के चयन में किसने बाजी मारी. 

90 उम्मीदवारों की सूची में प्रत्याशियों के नाम देखकर आप समझ सकते हैं कि किस नेता के कितने पसंददीदा को टिकट दिया गया है.
भूपेंद्र सिंह हुड्डा (Bhupendra Singh Hooda) : 40 सीट
कुमारी सैलेजा : 13 सीट
रणदीप सुरजेवाला : 5 सीट
किरण चौधरी : 3 सीट
अशोक तंवर (Ashok Tanwar) : 2 सीट
कुलदीप बिश्नोई : 4 सीट
डॉक्टर अजय यादव: 1