close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

टेंडर रद्द होने के बाद फंसा पैसा तो किया SAIL के चेयरमैन पर हमला, आरोपी गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच में SAIL के चेयरमैन अनिल कुमार चौधरी पर हमला करवाने वाले मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. 

टेंडर रद्द होने के बाद फंसा पैसा तो किया SAIL के चेयरमैन पर हमला, आरोपी गिरफ्तार

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच में SAIL के चेयरमैन अनिल कुमार चौधरी पर हमला करवाने वाले मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. मुख्य आरोपी अशोक कुमार सिंह ट्रेडिंग का कारोबार करते है और Sonam Enterprises के नाम से सफदरजंग में दफ्तर है. साल 2017 में SAIL से Cocking Coal का Contract लिया था जोकि USA से Import होता है. 65,000 कोयला जिसकी कीमत करीब 80-85 करोड़ थी उसे मंगाया गया लेकिन SAIL ने उस कोयले को खराब क्वालिटी का बता कर टेंडर रद्द कर दिया.

उस समय अनिल कुमार चौधरी डायरेक्टर वित्त विभाग SAIL थे जिसकी वजह से आरोपी अशोक कुमार का पैंसा फंस गया. बताया जा रहा है कि अशोक कुमार सिंह ने पैसा निकलवाने की काफी कोशिश की और हर तरह का दबाव दलवाया, यहां तक की हनी ट्रैप में भी फंसाने की कोशिश की लेकिन बात नहीं बनी और इसी बीच अनिल कुमार चौधरी SAIL के चेयरमैन बन गये.

पैसा निकलवाने का कोई रास्ता ना देख अशोक कुमार ने जानकार सुनिल बलहारा से संपर्क किया और योजना बनाई कि अनिल कुमार चौधरी पर जानलेवा हमला किया जाये जिससे वो कई महिनों तक अस्पताल में रहे और उनका चार्ज किसी और के पास आ जाये और पैसा निकल जाये.

इस योजना में सुनिल बल्हारा ने अपने साले छुट्कू को शामिल किया और चार लड़के नांगलोई से तैयार किये गये जिन्होने अगस्त महिने में रात को SAIL चैयरमैन पर हमला किया. मौके पर पहुंची पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था जिसके बाद ये सारा मामला खुलता चला गया.

वहीं दूसरी तरफ सेल के प्रवक्ता ने बताया कि, सेल (SAIL) और अशोक कुमार सिंह के बीच 100 करोड़ रुपये के कोयले की डील हुई थी. यह कोयला अमेरिका की कंपनी से मंगाया जाना था. इसके लिए सेल ने पहले ही अशोक कुमार सिंह को 30 करोड़ रुपये दिए थे. कोयले के सेम्पल दो बार मंगवाए गए लेकिन तय मानकों पर कोयला खरा नहीं उतरा. इसके बाद सेल ने इस डील को कैंसिल कर दी और अशोक कुमार सिंह को दिए हुए 30 करोड़ रुपये वापस करने को कहा. सेल का आरोप है कि तमाम कोशिश केे बाद भी अशोक ने पैसा वापस नहीं किया. जिसका मामला चल रहा है. 

पुलिस ने इसमें कुल 7 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. इस हमले का मास्टरमाइंड अशोक कुमार सिंह,  सुनिल बल्हारा, छुट्कू और हमला करने वाले औम प्रकाश, अमरजीत, ललित और प्रवेश शामिल है.