close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दिल्ली विधानसभा: विजेंद्र गुप्ता और कपिल मिश्रा को मार्शलों ने किया सदन से बाहर

दिल्ली विधानसभा में सोमवार को अपने-अपने मुद्दों पर चर्चा कराए जाने की मांग पर अड़े रहने और अध्यक्ष के आदेशों को मानने से इनकार करने की वजह से विपक्ष के नेता विजेंद्र गुप्ता और आम आदमी पार्टी (आप) के बागी नेता कपिल मिश्रा को मार्शल ने सदन से बाहर कर दिया.

दिल्ली विधानसभा: विजेंद्र गुप्ता और कपिल मिश्रा को मार्शलों ने किया सदन से बाहर
दिल्ली विधानसभा का विशेष सत्र शुरू होने के कुछ ही मिनट बाद मार्शलों ने कपिल मिश्रा को सदन से बाहर निकाल दिया। (फोटो साभार - IANS)

नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा में सोमवार को अपने-अपने मुद्दों पर चर्चा कराए जाने की मांग पर अड़े रहने और अध्यक्ष के आदेशों को मानने से इनकार करने की वजह से विपक्ष के नेता विजेंद्र गुप्ता और आम आदमी पार्टी (आप) के बागी नेता कपिल मिश्रा को मार्शल ने सदन से बाहर कर दिया.

दिल्ली विधानसभा का विशेष सत्र शुरू होने के कुछ ही मिनट बाद मार्शलों ने मिश्रा को सदन से बाहर निकाल दिया. मिश्रा ने दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) के संविदा कर्मचारियों की हड़ताल और राष्ट्रीय राजधानी में रह रहे ‘अवैध बांग्लादेशियों’ के मुद्दों को उठाने का प्रयास किया था.

दिल्ली पुलिस को दिल्ली सरकार के नियंत्रण में लाये जाने के सरकार के एक प्रस्ताव पर गृह मंत्री सत्येन्द्र जैन के भाषण को बाधित करना जारी रखने पर बीजेपी नेता विजेंद्र गुप्ता को भी इसी तरह की कार्रवाई का सामना करना पडा.

कई चेतावनियों के बावजूद विजेंद्र गुप्ता ने मंत्री के भाषण पर आपत्ति जताई. जब वह शांत नहीं हुए तो अध्यक्ष राम निवास गोयल ने बीजेपी विधायक को सदन से बाहर किए जाने के मार्शलों को निर्देश दिए. अपने भाषण के दौरान जैन ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर हाल में हुए हमले को लेकर बीजेपी के नेतृत्व वाली केन्द्र सरकार और पुलिस की निंदा की.

उन्होंने आरोप लगाया कि दिल्ली पुलिस अपराध को नियंत्रित करने में विफल रही है. उन्होंने मांग की कि दिल्ली पुलिस को दिल्ली सरकार के अधीन लाया जाना चाहिए. शोक संदेशों को पढ़े जाने के बाद सदन की कार्यवाही शुरू होते ही मिश्रा ने डीटीसी के संविदा कर्मचारियों और राजधानी में रह रहे ‘अवैध बांग्लादेशियों’ के मुद्दों को उठाने का प्रयास किया.

अध्यक्ष गोयल ने मिश्रा को अपनी सीट पर जाने के लिए कहा लेकिन विधायक ने इन दो मुद्दों पर चर्चा कराए जाने की मांग की. मिश्रा के अपनी मांग पर अड़े रहने के बाद गोयल ने मार्शलों को विधायक को सदन से बाहर ले जाने के निर्देश दिए. 

इसके बाद मिश्रा ने ट्वीट किया,‘मैं प्रदूषण, डीटीसी कर्मचारियों के रोजगार और अवैध बांग्लादेशियों के मुद्दों को उठाने का प्रयास कर रहा था. यह 19वीं बार है जब सदन का सत्र शुरू होते ही मार्शलों ने मुझे सदन से बाहर निकाल दिया.’  सदन के विभिन्न नियमों के तहत विपक्षी बीजेपी विधायकों ने भी मुद्दों को उठाने का प्रयास किया लेकिन अध्यक्ष ने उन्हें ऐसा करने की अनुमति नहीं दी.

(इनपुट - भाषा)