हरियाणा में 18 दिन बाद कैबिनेट विस्तार, खट्टर सरकार में 10 मंत्रियों ने ली शपथ

27 अक्टूबर दिवाली (Diwali) के दिन चंडीगढ़ में राजभवन में हुए समारोह मनोहर लाल खट्टर (Manohar Lal Khattar) ने दूसरी बार प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी. वहीं, बीजेपी को सरकार बनाने के लिए समर्थन देने वाली जननायक जनता पार्टी (JJP) के विधायक दल के नेता दुष्‍यंत चौटाला (Dushyant Chautala) ​ने डिप्टी सीएम की शपथ ली थी.

हरियाणा में 18 दिन बाद कैबिनेट विस्तार, खट्टर सरकार में 10 मंत्रियों ने ली शपथ

चंडीगढ़: हरियाणा में बीजेपी-जेजेपी सरकार में आज (14 नवंबर) को नए मंत्रियों के शपथ दिलवाई. राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य ने सीएम मनोहर लाल खट्टर (Manohar Lal Khattar) सरकार में 6 कैबिनेट और 4 राज्य मंत्रियों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलवाई. कैबिनेट मंत्रियों में अनिल विज, कंवर पाल, मूलचंद शर्मा, रणजीत सिंह, जयप्रकाश दलाल और बनवारी लाल का नाम शामिल हैं. वहीं राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) जिन्हें मिला है उस लिस्ट में हॉकी खिलाड़ी संदीप सिंह का नाम भी शामिल है. इसके अलावा ओम प्रकाश यादव, कमलेश ढांडा और अनूप धानक का नाम है.

गौरतलब है कि 27 अक्टूबर दिवाली (Diwali) के दिन हरियाणा (Haryana) में फि‍र भारतीय जनता पार्टी (BJP) की सरकार बन गई थी.चंडीगढ़ में राजभवन में हुए समारोह मनोहर लाल खट्टर (Manohar Lal Khattar) ने दूसरी बार प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी.

यह भी पढे़ं:-बेटा तो बाप के नाम से जाना जाएगा.. उसकी मेहनत है: अजय चौटाला

वहीं, बीजेपी को सरकार बनाने के लिए समर्थन देने वाली जननायक जनता पार्टी (JJP) के विधायक दल के नेता दुष्‍यंत चौटाला (Dushyant Chautala) हरियाणा के उप मुख्‍यमंत्री के रूप में शपथ ली थी. शपथ ग्रहण समारोह के लिए दुष्यंत चौटाला के पिता अजय चौटाला, पंजाब के पूर्व सीएम और अकाली नेता प्रकाश सिंह बादल और उनके बेटे सुखबीर बादल और बीजेपी कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा भी पहुंचे थे. 

शपथ ग्रहण के बाद अजय चौटाला ने कहा ये सरकार पूरे पांच साल तक चलेगी और हरियाणा के विकास के रथ को आगे बढ़ाएगी.

यह भी पढ़ेंः दुष्यंत हुए भावुक, बोले - पिता की मौजूदगी से मुझे ताकत मिलेगी

बता दें कि हाल ही में संपन्न हुए हरियाणा विधानसभा चुनाव के नतीजों में किसी भी दल को पूर्ण बहुमत नहीं मिला था. बीजेपी 40 सीटों पर सिमट गई और कांग्रेस 31 सीटों तक ही पहुंच सकी. वहीं आईएनएलडी से अलग हुई जननायक जनता पार्टी (JJP) ने 10 सीटों पर जीत दर्ज की. गोपाल कांड़ा की पार्टी को 1 सीट और आईएनएलडी को 1 सीट मिली है. वहीं 7 सीटें अन्य के खाते में गई.