व्यापारियों के संगठन ने कहा, 'राजपथ का नाम बदलकर किया जाए 'अटल बिहारी वाजपेयी पथ'

कैट के महासचिव प्रवीण खंडेलवाल ने प्रधानमंत्री मोदी को लिखे पत्र में यह भी प्रस्ताव किया कि संसद के समीप विजय चौक पर वाजपेयी की ऊंची प्रतिमा लगाई जानी चाहिए. 

व्यापारियों के संगठन ने कहा, 'राजपथ का नाम बदलकर किया जाए 'अटल बिहारी वाजपेयी पथ'
(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: व्यापारियों के शीर्ष संगठन कैट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से दिल्ली में राजपथ का नाम पूर्व प्रधानमंत्री की याद में ‘अटल बिहार वाजपेयी पथ’ रखने का आज आग्रह किया. अखिल भारतीय व्यापारी परिसंघ (कैट) महासचिव प्रवीण खंडेलवाल ने प्रधानमंत्री मोदी को लिखे पत्र में यह भी प्रस्ताव किया कि संसद के समीप विजय चौक पर वाजपेयी की ऊंची प्रतिमा लगाई जानी चाहिए. पूर्व प्रधानमंत्री का लंबी बीमारी के बाद 16 अगस्त को निधन हो गया.

खंडेलवाल ने यह भी सुझाव दिया कि स्वर्णिम चर्तुभुज राजमार्ग नेटवर्क का नाम ‘अटल बिहार वाजपेयी राजमार्ग’ किया जाना चाहिए. उन्होंने कहा,‘पूरे देश को सड़क मार्ग से जोड़ने के लिये इस परियोजना का विचार वाजपेयी ने ही दिया था. अगर इस परियोजना का नाम उनके नाम पर रखा जाता है, उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि होगी...’

SDMC​ वाजपेयी के नाम पर रखेगा अपने नए मुख्यालय का नाम
दक्षिण दिल्ली नगर निगम (एसडीएमसी) की सभा ने अपने नये बनने वाले मुख्यालय का नाम पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर रखने के प्रस्ताव को आज मंजूरी दे दी. एक अधिकारी ने यह जानकारी दी. अधिकारी ने बताया कि यह प्रस्ताव दक्षिणी दिल्ली नगर निगम के मेयर नरेंद्र चावला ने पेश किया और सभा ने इसे मंजूरी दे दी. इस इमारत का निर्माण इंद्रप्रस्थ इस्टेट क्षेत्र में किया जाएगा. 

अधिकारी ने बताया, 'सभा में यह भी फैसला किया गया कि सभी पार्षद और अधिकारी अपना एक दिन का वेतन केरल बाढ़ राहत कोष में दान करेंगे.' मौजूदा समय में एसडीएमसी मुख्यालय सिविक सेंटर में चल रहा है जिसका नाम जनसंघ संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम पर है. 

(इनपुट - भाषा)