close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दिल्ली में चोरी का अनोखा गैंग, ये खड़ी गाड़ियों के चुरा लेता है टायर

लोगों ने जब सोसाइटी में लगे सीसीटीवी कैमरे चेक किये तो पता चला कि रविवार देर रात एक सफेद रंग की कार से चोर आये.

दिल्ली में चोरी का अनोखा गैंग, ये खड़ी गाड़ियों के चुरा लेता है टायर

नई दिल्लीः देश की राजधानी दिल्ली में इन दिनों चोरों का एक ऐसा गैंग सक्रिय है जिसके टारगेट पर आपकी कार नहीं है, बल्कि सिर्फ उसके टायर हैं. ये गैंग रात के अंधेरे में एक सफेद रंग की कार में सवार होकर निकलता है और चंद मिनटों में दर्जनभर कारों के टायर चोरी कर फरार हो जाता है. हैरानी की बात ये है कि टायर चोरी की इन वारदातों को अंजाम देने के लिए ये गैंग बड़ी संख्या में ईंटो का ढेर भी अपने साथ लेकर चलता है. पिछले कुछ दिनों से इस गैंग ने दिल्ली के टैगोर गार्डन इलाके को अपना निशाना बनाया हुआ है. इस गैंग ने एक रात में यहां की नई और लक्जरी गाड़ियों पर कितना कहर बरपाया है इन तस्वीरों को देख कर अंदाज़ा लगाया जा सकता है. 

यहां करीब दर्जनभर कारों से टायर गायब हैं. सभी कारें ईंटों के ढेर पर खड़ी हैं. इस सोसाइटी में रहने वाले लोग जब रविवार सुबह दफ्तर जाने के लिए घर से निकलकर अपनी गाड़ियों तक पहुंचे तो कार के टायर गायब देखकर दंग रह गए. लोगों ने जब सोसाइटी में लगे सीसीटीवी कैमरे चेक किये तो पता चला कि रविवार देर रात एक सफेद रंग की कार से चोर आये. जिस कार को उन्होंने टारगेट किया पहले उसके पीछे अपनी कार खड़ी की, जिससे किसी को उनकी करतूत के बारे में शक न हो सके.

कार से एक शख्स नीचे उतरता है, उसके बाद वो एक एक कर सभी टायर के नीचे जैक लगाकर नट खोलता है और टायर निकाल कर अपनी कार में रख लेता है. फरार होते वक़्त ये गैंग कार के नीचे लगा जैक निकाल कर यहाँ ईंट के ढेर पर ठीक इस तरह कार को खड़ा कर फरार हो जाता है. इलाके के लोगों के मुताबिक, ठीक इसी तरह टायर चोरों के इस गैंग के एक दर्जन गाड़ियों के सभी टायर चोरी किये और आराम से फरार हो गए.

हालांकि, जिन गाड़ियों के टायर चोरी हुए उनके मालिको ने इसकी शिकायत पुलिस से कर दी है, लेकिन अभी तक चोरों के इस अनोखे गैंग का कोई सुराग पुलिस के हाथ नही लग सका है. पुलिस को लगता है कि नई गाड़ी के मंहगे टायर चुराने के पीछे चोरों का मकसद ये हो सकता है कि टायर को आसानी से बेचा जा सकता है और उसकी रिकवरी मुश्किल हो सकती है. हालांकि पुलिस की टीमें चोरों के इस अनोखे गैंग की तलाश में जुट गई है.