दिल्ली: सरकारी स्कूल के बच्चों ने किया कमाल, पहली बार 12वीं के 98% नतीजे

दिल्ली में प्राइवेट स्कूलों के 92.2 और सरकारी स्कूलों के 97.90 प्रतिशत नतीजे आएं हैं. 

दिल्ली: सरकारी स्कूल के बच्चों ने किया कमाल, पहली बार 12वीं के 98% नतीजे
(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने दिल्ली के सरकारी स्कूलों के 12वीं क्लास के नतीजे 98 प्रतिशत आने पर सभी छात्रों को शुभकामनाएं देते हुए उनके सुनहरे भविष्य की कामना की. 

दिल्ली सरकार के स्कूलों के बच्चों ने 98 प्रतिशत नतीजे लाकर कमाल कर दिया है. दिल्ली में प्राइवेट स्कूलों के 92.2 और सरकारी स्कूलों के 97.90 प्रतिशत नतीजे आएं हैं. सीएम केजरीवाल ने कहा कि जब से दिल्ली में ‘आप’ की सरकार बनी है, तब से सरकारी स्कूलों के नतीजों में लगातार सुधार आ रहा है. 2016 में 88.9, 2017 में 90, 2019 में 94 और इस साल 98 प्रतिशत नतीजे आए हैं. सरकार ने सरकारी स्कूलों का महौल बदला और सभी सुविधाएं मुहैया कराई. 

इन नतीजों ने सरकारी स्कूलों के बच्चों के प्रति लोगों की हीन भावना को खत्म किया है. अब दिल्ली के सरकारी स्कूलों में पढ़ना गर्व और फक्र की बात है. वहीं, उपमुख्यमंत्री एवं शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि हमारे स्कूलों में बहुत सारे ऐसे बच्चे पढ़ते हैं, जिनके घर में पहली पीढ़ी पढ़ रही होती है. उनके लिए अच्छे नंबरों से पास होना बहुत बड़ी बात है.

CBSE नतीजों में सरकारी स्कूलों के छात्रों के शानदार प्रदर्शन पर क्या बोले CM केजरीवाल?

केजरीवाल ने कहा कि पिछले तीन महीने से हर दूसरे- तीसरे दिन मैं आप लोगों को दिल्ली में कोरोना घट या बढ़ रहा है, इसके बारे में बताता रहा हूं. लेकिन आज इस तनावपूर्ण माहौल में आपको के लिए एक अच्छी खबर है. हमारे दिल्ली के बच्चों ने कमाल करके दिखा दिया है. दिल्ली के सरकारी स्कूलों के 12वीं कक्षा के नतीजे 98 प्रतिशत आए हैं. मुझे लगता है कि भारत के 70 साल के इतिहास में किसी राज्य के सारे सरकारी स्कूलों के नतीजे मिला कर 98 प्रतिशत नहीं आए होंगे. इस बार प्राइवेट स्कूल के 92.2 प्रतिशत और सरकारी स्कूलों के 97.90 प्रतिशत नतीजे आए हैं. 

उन्होंने कहा कि पूरे देश में दिल्ली के सरकारी स्कूलों के सबसे अच्छे नतीजे हैं. हमारे कुल 916 स्कूलों में 12वीं कक्षा की परीक्षा हुईं, उनमें से 396 स्कूलों के नतीजे 100 प्रतिशत आए हैं.
 
मनीष सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली सरकार के सभी शिक्षकों ने पिछले 5 साल में बहुत मेहनत की है और आज इस नतीजे पर पहुंचे हैं कि सीबीएसई के 12वीं के बच्चों के नतीजे 98 प्रतिशत आए हैं. जब 2015 में ‘आप’ सरकार बनी, तो उस समय 80, 85, 86 प्रतिशत नतीजे आते थे. उस समय ऐसा लगता था कि कभी 90 प्रतिशत पार कर पाएंगे, तो बड़ी बात होगी. लेकिन फिर 94 प्रतिशत और आज 98 प्रतिशत और असफल रहे 2 प्रतिशत बच्चों को भी खूब मेहनत कराएगें, ताकि 100 प्रतिशत नतीजे हो जाएं.

डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा कि सबसे महत्वपूर्ण यह है कि हमारे यहां बहुत सारे बच्चे ऐसे होते हैं, जिनके यहां पहली पीढ़ी पढ़ाई कर रही है या 12वीं पास कर रही होती है. वो बिहार, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और देश के कोने-कोने से आकर के दिल्ली में रह रहे हैं. अपनी रोजी-रोटी चला रहे हैं, मजदूरी कर रहे हैं, अपना काम कर रहे हैं, उनके घर में बच्चों का स्कूल में पढ़ना और अच्छे नंबर लाकर पास होना बहुत बड़ी बात है.