close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गानों के जरिए लोगों को ट्रैफिक नियमों के प्रति जागरूक कर रहे चंडीगढ़ के ASI, सोशल मीडिया पर छाए

त्योहारों के दिनों में लगभग सभी शहरों में लोगों को ट्रैफिक की समस्या से जुझना पड़ता है. ऐसे में चंडीगढ़ ट्रैफिक पुलिस ने ट्रैफिक को कंट्रोल करने के लिए अनोखा तरीका अपनाया है

गानों के जरिए लोगों को ट्रैफिक नियमों के प्रति जागरूक कर रहे चंडीगढ़ के ASI, सोशल मीडिया पर छाए
एएसआई भूपेंद्र सिंह अब एक सेलीब्रिटी बन गए हैं

चंडीगढ़: एक एएसआई द्वारा लोगों को गानों के जरिए ट्रैफिक नियमों के बारे में जागरूक करने वाला वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है. ये एएसआई चंडीगढ़ ट्रैफिक पुलिस में 2012 से सेवाएं दे रहे हैं और इनका नाम है भूपेंद्र सिंह. भूपेंद्र सिंह ने दलेर मेंहदी के गाने बोलो तारा रा रा गाने का नया वर्जन निकाला है और नो पार्किंग वाली जगह पर गाड़ी पार्क करने वालों को इस नए गाने के ज़रिए जागरूक किया जा रहा है. इस गाने का वीडियो जैसे ही वायरल हुआ भूपेंद्र सिंह स्टार बन गए. खुद दलेर मेहंदी ने भी उनकी तारीफ की.

दलेर मेंहदी ने कहा कि उन्हें खुशी है कि चंडीगढ़ पुलिस उनके गाने की धुन पर लोगों को ट्रैफिक नियमों के प्रति जागरूक कर रही है उनके लिए ये फक्र की बात है.

त्योहारों के दिनों में लगभग सभी शहरों में लोगों को ट्रैफिक की समस्या से जुझना पड़ता है. ऐसे में चंडीगढ़ ट्रैफिक पुलिस ने ट्रैफिक को कंट्रोल करने के लिए अनोखा तरीका अपनाया है. गानों के ज़रिए लोगों को मोटर व्हीकल एक्ट के नियमों के बारे में जागरूक किया जा रहा है. न सिर्फ रॉन्ग पार्किग में गाड़ी खड़े करने पर क्या परिणाम हो सकते हैं उसकी जानकारी गाने के जरिए दी जा रही है बल्कि चालान के रेट कितने-कितने बढ़ गए हैं और एक गलती के कारण कितनी जेब ढीली करनी पड़ सकती है उसके बारे में पब्लिक को समझाने के लिए भी भूपेंद्र सिंह के गानों का ही सहारा लिया जा रहा है.

भूपेंद्र सिंह अब तक नो पार्किंग, नए ट्रेफिक नियमों के चलते बढ़े चालान रेट, लड़कियों के लिए हेलमेट अनिवार्य, नो होर्न जैसे कई विषयों पर गाने लिख और गा चुके हैं.

बता दें कि वैसे तो भूपेंद्र सिंह 1987 से चंडीगढ़ पुलिस में अपनी सेवाएं दे रहे हैं. लेकिन 2012 में वो चंडीगढ़ ट्रैफिक पुलिस में आ गए थे. ज़ी मीडिया से बातचीत करते हुए भूपेंद्र सिंह ने बताया कि वो अब तक 20 से ज्यादा गाने गा चुके हैं सभी गाने उन्होंने ट्रैफिक नियमों से जुड़े गाए हैं.

उनका मानना है कि वह गीतों से लोगों में ट्रैफिक नियमों के प्रति जागरूकता ला रहे हैं. भूपेंद्र सिंह ने कहा दुसरे राज्यों से आने वाले लोगों को चंडीगढ़ आने से पहले दिमाग में रहता है कि चंडीगढ़ पुलिस बहुत सख्त है और चालान काटती है. लेकिन गीत के माध्यम से हम उनके मन से डर निकालना चाहते हैं. हमारा मकसद सिर्फ जागरूकता फैलाना है और गाने सीधे लोगों को दिलों-दिमाग पर छा जाते हैं. इसलिए गानों के ज़रिए उनको जागरूक कर रहे हैं.

वैसे तो एएसआई भूपेंद्र सिंह अब एक सेलीब्रिटी बन गए हैं और यहां भी वो गाने गाकर लोगों को जागरूक कर रहे होते हैं. वहां लोग उनको देखने के लिए इकट्ठे हो जाते हैं. लोग भी भूपेंद्र सिंह के इस अंदाज को काफी सराह रहे हैं. उनका कहना है कि मनोरंजन भी हो जाता है और वो जागरूक भी होते हैं. लोगों ने कहा कि चंडीगढ़ ट्रैफिक पुलिस हमेशा से सख्ती के लिए जानी जाती है लेकिन ये ट्रैफिक पुलिस का दूसरा रूप है.