close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

चंडीगढ़ के इस पुलिस कॉन्स्टेबल को कहा जाता हैं 'ट्री मैन', लोगों को बांटते हैं मुफ्त पौधे

चंडीगढ़ पुलिस में कॉन्स्टेबल के पद पर तैनात 32 साल के देविंदर सूरा अभी तक हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली में दो लाख के करीब पौधे लगा चुके हैं. 

चंडीगढ़ के इस पुलिस कॉन्स्टेबल को कहा जाता हैं 'ट्री मैन', लोगों को बांटते हैं मुफ्त पौधे
देविंदर सूरा की मानें, तो उन्होंने 283 गांवों में दस हजार युवाओं को पर्यावरण मित्र बनाया है और यह युवा वृक्षारोपण को बढ़ावा देते हैं.

चंडीगढ़: पराली जलाने और अन्य कई तरह से वातावरण में लगातार जहर घुल रहा है. इन सबके बीच चंडीगढ़ पुलिस के एक कॉन्स्टेबल देविंदर सूरा अपनी पूरी की पूरी तनख्वाह पर्यावरण की रक्षा करने में खर्च कर देते हैं. कॉन्स्टेबल देविंदर सूरा लोगों को वृक्षारोपण के लिए प्रेरित करते हुए मुफ्त में पौधे भी बांटते हैं.  इसके लिए इन्होंने बाकायदा 13 लाख रूपये बैंक से कर्ज लेकर एक नर्सरी भी बनाई है. कॉन्स्टेबल सूरा के इस जूनून की वजह से उनको चंडीगढ़ पुलिस का ट्री मैन (TREE MAN) भी कहा जाता है.

पुलिस को अपनी तरफ आता हुआ देखकर अमूमन लोगों के मन में कई तरह के शंका भरे सवाल पैदा हो जाते हैं. मगर, चंडीगढ़ पुलिस के कॉन्स्टेबल देविंदर सूरा हाथों में पौधों की सौगात लेकर लोगों के पास जाते हैं. इन पौधों को आप अपने घर के आंगन या फिर बाहर किसी स्थान पर लगा सकते हैं. दरअसल, कॉन्स्टेबल देविंदर सूरा लोगों को अपनी नर्सरी के पौधे बांटते हैं और इन पौधों के लिए वे कोई कीमत नहीं लेते हैं.

चंडीगढ़ पुलिस में कॉन्स्टेबल के पद पर तैनात 32 साल के देविंदर सूरा अभी तक हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली में दो लाख के करीब पौधे लगा चुके हैं. जबकि लोगों को पेड़ पौधे बांटने का इनका जूनून इससे भी ज्यादा बड़ा है. देविंदर सूरा के अनुसार अपनी पूरी तनख्वाह इसी जूनून पर खर्च कर देते हैं. उन्होंने अपने गांव सोनीपत में बैंक से 13 लाख रूपये का कर्ज लेकर एक नर्सरी बनाई. ताकि पौधे तैयार करके लोगों को मुफ्त बांट सकें.

देविंदर सूरा की मानें, तो उन्होंने 283 गांवों में दस हजार युवाओं को पर्यावरण मित्र बनाया है और यह युवा वृक्षारोपण को बढ़ावा देते हैं. देविंदर सूरा पर्यावरण की फिक्र करते हुए वाहन के तौर पर ज्यादातर साईकिल का इस्तेमाल करते हैं. पर्यावरण के लिए इनके प्रेम और समर्पण को देखते हुए इन्हें कई बार सम्मानित भी किया जा चुका है. बहरहाल, देविंदर सूरा के इस जूनून की वजह से इनको चंडीगढ़ पुलिस के ट्री मैन के नाम से भी बुलाया जाता है.