close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

हेलीकॉप्टर मामला: अदालत ने तिहाड़ जेल अधिकारियों की खिंचाई की

विशेष न्यायाधीश अरविंद कुमार ने कहा कि मिशेल बीते 70 दिन से जेल में बंद है और अब अचानक ऐसा क्या हुआ कि उसे उच्च सुरक्षा वार्ड में स्थानान्तरित किया गया है.

हेलीकॉप्टर मामला: अदालत ने तिहाड़ जेल अधिकारियों की खिंचाई की
(प्रतीकात्मक फोटो)

नई दिल्ली: दिल्ली की एक अदालत ने गुरुवार को 3600 करोड़ रुपये के अगस्तावेस्टलैंड हेलीकॉप्टर सौदा मामले में गिरफ्तार क्रिश्चियन मिशेल को उच्च सुरक्षा सेल में स्थानान्तरित करने के कारण नहीं बताने पर तिहाड़ जेल के अधिकारियों की खिंचाई की.  अदालत ने कहा कि अगर उसे उचित जवाब नहीं मिलता है तो वह जांच शुरू करेगी.

विशेष न्यायाधीश अरविंद कुमार ने कहा कि मिशेल बीते 70 दिन से जेल में बंद है और अब अचानक ऐसा क्या हुआ कि उसे उच्च सुरक्षा वार्ड में स्थानान्तरित किया गया है.

तिहाड़ जेल के उपाधीक्षक ने अदालत से कहा कि मिशेल को उसकी सुरक्षा को ध्यान में रखकर सेल संख्या दो (उच्च सुरक्षा सेल) में स्थानान्तरित किया गया है क्योंकि यह बहुचर्चित मामला है. हालांकि वह अचानक स्थानान्तरण को अदालत के सामने सही ठहराने में नाकाम रहे.

न्यायाधीश ने सवाल किया, ‘अब तक उसकी सुरक्षा को कोई खतरा क्यों नहीं था. उसे 70 दिन तक अन्य कैदियों के साथ रखा गया. यह हमेशा से बहुचर्चित मामला था. अगर ऐसा है तो उसे शुरू से ही उच्च सुरक्षा वार्ड में रखा जाना चाहिए था. मुझे बताइए कि उसे अचानक एक वार्ड में क्यों स्थानान्तरित किया गया जहां खूंखार अपराधियों को रखा जाता है.’

अदालत ने तिहाड़ के महानिदेशक (डीजी) को निर्देश दिया कि मिशेल को अचानक उच्च सुरक्षा सेल में स्थानान्तरित किये जाने के कारण बताने वाला विस्तृत जवाब सौंपा जाए.

गौरतलब है कि मिशेल को दुबई से प्रत्यर्पण करके लाने के बाद 22 दिसंबर को प्रवर्तन निदेशालय ने गिरफ्तार किया था.