राजीव गांधी अस्पताल में 1000वें कोरोना पेशेंट को मिली छुट्टी, केजरीवाल ने किया सम्मानित

जानें कैसी कोरोना को हराकर ठीक हुए अस्पताल के 1000वें पेशेंट की कहानी

राजीव गांधी अस्पताल में 1000वें कोरोना पेशेंट को मिली छुट्टी, केजरीवाल ने किया सम्मानित

नई दिल्ली: देश की राजधानी में स्थित राजीव गांधी सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल (Rajiv Gandhi Super Speciality Hospital) में भर्ती अब तक एक हजार कोरोना संक्रमित मरीज इलाज के बाद ठीक हो चुके हैं. सोमवार को कोरोना के 1000वें मरीज के ठीक होने के बाद अस्पताल से छुट्टी मिल गई. इस मौके पर दिल्ली सीएम केजरीवाल (Arvind Kejriwal) और डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया भी पहुंचे और कोरोना से ठीक होने वाली महिला को सम्मानित किया.

अस्पताल प्रशासन ने बताया कि महिला की जांच में कोरोना नेगेटिव आने के बाद अस्पताल ने उसे छुट्टी देने के फैसला किया है. वहीं अस्पताल के दौरे पर आए सीएम केजरीवाल ने वीडियो कॉल के जरिए कुछ कोरोना मरीजों से बात की और मरीजों का उत्साह वर्धन किया. इसके साथ ही उन्होंने अस्पताल में उपलब्ध मेडिकल उपकरणों के बारे में भी जानकारी ली. इस दौरान डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया भी मौके पर मौजूद रहे. अपने दौरे के दौरान सीएम केजरीवाल ने अस्पताल में लैब और आईसीयू बैड का उदघाटन भी किया. जिसके बाद अब राजीव गांधी अस्पताल में कुल 200 ICU बेड की सुविधा है. जबकि अन्य 300 सादे बेड हैं. 

1000 वे कोरोना पेशेंट की कहानी...
अस्पताल में इलाज के बाद कोरोना से जंग जितने वाली मंजू और प्रदीप सच्चे कोरोना FIGHTER हैं. मंजू दिल्ली सरकार में सीनियर नर्सिंग स्टाफ का काम करतीं हैं जबकि प्रदीप मेडिकल स्टाफ से जुड़े हुए हैं. देश में कोरोना की शुरुआत से ही दोनों लगातार कोरोना मरीजों की सेवा में जुटे हुए थे. लेकिन लगातार कोरोना मरीजों की संपर्क में आने से एक दिन दोनों कोरोना संक्रमित हो गए. इनके साथ ही 3 बच्चों को भी कोरोना संक्रमण हो गया था. ये वो समय था जब पूरे परिवार पर एक साथ आफत आ गयी थी. लेकिन इन लोगों के जज्बों ने कभी हार नहीं मानी और कोरोना से जंग जारी रखी. जिसके बाद आज वे पूरी तरह स्वस्थ्य हो गए हैं. प्रदीप और मंजू का कहना है कि अब वो वापस से कोरोना मरीजों की सेवा जल्द ही करने लगेंगे और देश के काम आयेंगे.

ये भी पढ़ें:- जम्मू कश्मीर: PAK अधिकारियों के संपर्क में था DSP देवेंद्र सिंह, NIA ने दाखिल की चार्जशीट