close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019: हुड्डा ने मायावती से मुलाकात की खबर का किया खंडन

6 सितंबर को जननायक जनता पार्टी से बीएसपी ने गठबंधन तोड़ने का ऐलान किया था. इसके बाद रविवार 8 सितंबर को कांग्रेस के साथ बीएसपी की गठबंधन की खबर सामने आई.

हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019: हुड्डा ने मायावती से मुलाकात की खबर का किया खंडन
फाइल फोटो

नई दिल्लीः हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019 से पहले कांग्रेस और बीएसपी के बीच होने वाले गठबंधन की खबरों से पूर्व सीएम और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा इनकार कर दिया है. ज़ी मीडिया से बात करते हुए भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा ने बीएसपी सुप्रीमो मायावती से मुलाकात की ख़बर का खंडन किया. खबर है कि हरियाणा विधानसभा चुनाव में गठबंधन को लेकर रविवार शाम को कुमारी शैलजा और भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने मायावती से दिल्ली में मुलाकात की थी.

हरियाणा में विधानसभा चुनाव अक्टूबर-नवंबर के महीने में होने है.

बता दें कि करीब एक माह पहले बहुजन समाज पार्टी और दुष्यंत चौटाला की पार्टी जननायक जनता पार्टी ने गठबंधन किया था लेकिन यह गठबंधन चुनाव से पहले ही टूट गया है. बीएसपी प्रमुख मायावती ने 6 सितंबर को जेजेपी से गठबंधन तोड़ने का ऐलान करते हुए कहा था कि उनकी पार्टी आने वाले हरियाणा विधानसभा चुनाव में अकेले चुनाव लड़ेगी. 

यह भी पढ़ेंः हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019: कुमारी सैलजा बनीं कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष, हुड्डा को मिला चुनाव समिति के अध्यक्ष का पद

मायावती के बाद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि हमने बीएसपी को 40 सीटें पर चुनाव लड़ने का ऑफर दिया था लेकिन पार्टी ने इनकर कर दिया. चौटाला ने कहा कि उनकी पार्टी अब 90 विधानसभा सीटों पर अकेले चुनाव लड़ेगी. चौटाला ने अपने एक ट्वीट में कहा, "न तो हम झुकेंगे, न ही रुकेंगे. हम अपने बलबूते लड़ेंगे." 

यह भी पढ़ेंः हरियाणा में चुनाव से पहले ही टूटा बीएसपी-जेजेपी गठबंधन, दुष्यंत चौटाला बोले - हम भी अकेले लड़ेंगे

इससे पहले, शुक्रवार को मायावती ने अपने एक ट्वीट में कहा था, "बीएसपी एक राष्ट्रीय पार्टी है जिसके हिसाब से हरियाणा में होने वाले विधानसभा आम चुनाव में श्री दुष्यन्त चैटाला की पार्टी से जो समझौता किया था वह सीटों की संख्या व उसके आपसी बंटवारे के मामले में उनके अनुचित रवैये के कारण इसे बीएसपी हरियाणा यूनिट के सुझाव पर आज समाप्त कर दिया गया है." 

यह भी पढ़ेंः हरियाणाः दुष्यंत चौटाला ने मिलाया बसपा से हाथ

उन्होंने आगे कहा, "ऐसी स्थिति में पार्टी हाईकमान ने यह फैसला किया है कि हरियाणा प्रदेश में शीघ्र ही होने वाले विधानसभा आमचुनाव में अब बीएसपी अकेले ही अपनी पूरी तैयारी के साथ यहां सभी सीटों पर चुनाव लड़ेगी." 

बता दें कि लोकसभा चुनाव 2019 से पहले मायावती ने ओम प्रकाश चौटाला की इंडियन नेशनल लोकदल के साथ गठबंधन का ऐलान किया था लेकिन जैसे जैसे चुनाव नजदीक आए मायावती की पार्टी ने इस गठंबधन को तोड़कर बीजेपी से अलग हुए राजकुमार सैनी की पार्टी के साथ गठबंधन कर लिया था. हरियाणा में बीएसपी के प्रभारी मेघराज दीक्षित का कहना था कि इनेलो से गठबंधन तोड़ने की वजह चौटाला परिवार में विघटन मुख्‍य वजह बना.