दलित हत्याकांड: सरकार ने पीड़ित पक्ष की सभी मांगे मानी, परिजन बच्चों के अंतिम संस्कार के लिए राजी

जिले के सुनपेड गांव में दो दलित बच्चों को कथित रूप से जलाकर मारने की घटना के दो दिन बाद बुधवार को राज्य सरकार ने पीड़ित पक्ष की सभी मांगों को स्वीकार कर लिया जिसके बाद परिजन बच्चों का अंतिम संस्कार करने को तैयार हो गए हैं।

फरीदाबाद : जिले के सुनपेड गांव में दो दलित बच्चों को कथित रूप से जलाकर मारने की घटना के दो दिन बाद बुधवार को राज्य सरकार ने पीड़ित पक्ष की सभी मांगों को स्वीकार कर लिया जिसके बाद परिजन बच्चों का अंतिम संस्कार करने को तैयार हो गए हैं।

फरीदाबाद से सांसद और केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने कहा कि हरियाणा सरकार ने पीड़ित पक्ष की सभी मांगें स्वीकार कर ली हैं। मांगे माने जाने के बाद पीड़ित पक्ष विरोध छोड़कर दोनों बच्चों के अंतिम संस्कार करने को राजी हो गया है। दूसरी ओर ‘अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा’ के तत्वाधान में आरोपियों के परिवार की महिलाओं ने एक संवाददाता सम्मेलन आयोजित कर इस पूरे मामले में उनके परिजनों को फंसाने का आरोप लगाया। उन्होंने मामले की निष्पक्ष जांच कराने की मांग सरकार से की।

उन्होंने कहा कि हमारे परिवार के लोग इस मामले में पूरी तरह निर्दोष हैं। उन्हें फर्जी तरीके से फंसाया जा रहा है। महिलाओं ने कहा कि पीड़ित परिवार जिस पुराने मामले को लेकर हमपर आरोप लगा रहा है वह पूरी तरह से निराधार है। वह मुकदमा बयान की स्थिति पर पहुंच गया था और फैसला हमारे हक में आने वाला था। इसी को देखते हुए पीड़ित परिवार ने इस तरह का षडयंत्र रच हमें फंसाने का काम किया है। उन्होंने कहा कि हमें सरकार व प्रशासन पर पूरा भरोसा है। निष्पक्ष जांच से इस मामले का पूरा सच सामने आ जाएगा।