Breaking News
  • दिल्‍ली हिंसा पर कांग्रेस ने राष्‍ट्रपति को ज्ञापन सौंपा
  • सोनिया गांधी, मनमोहन सिंह समेत कई नेता राष्‍ट्रपति से मिले
  • अखिलेश यादव सीतापुर के लिए निकले. जेल में बंद सपा नेता आजम खां व उनके परिवार से करेंगे मुलाकात

दिल्ली में घर का सपना देखने वालों के लिए बेहद खास है DDA की ये स्कीम

घर के सपने को साकार करने वाली दिल्ली डेवलपमेंट अथॉरिटी या डीडीए एक बार फिर इस साल अपनी हाउसिंग स्कीम लेकर आ रही है.

दिल्ली में घर का सपना देखने वालों के लिए बेहद खास है DDA की ये स्कीम
डीडीए की साल 2020 की हाउसिंग स्कीम बेहद खास है (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: घर के सपने को साकार करने वाली दिल्ली डेवलपमेंट अथॉरिटी या डीडीए (DDA) एक बार फिर इस साल अपनी हाउसिंग स्कीम लेकर आ रही है. लेकिन डीडीए (DDA) की साल 2020 की हाउसिंग स्कीम बेहद खास होने वाली है. डीडीए LIG, MIG कैटेगरी फ्लैट्स के बाद पहली बार पेंट हाउस और अल्ट्रा लक्ज़री फ्लैट्स लेकर आ रही है जिनकी कीमत 3 करोड़ से भी ज्यादा तक रह सकती है. 

63 सालों के अपने इतिहास में सबसे खास ये है कि डीडीए प्राइवेट बिल्डरों से सीधे टक्कर लेने को तैयार है. 5000 फ्लैट्स की यह स्कीम इसी साल मई-जून के बीच लॉन्च करने की तैयारियां डीडीए ने शुरू कर दी हैं. हाउसिंग स्कीम 2020 में लग्जरी फ्लैट्स, पेंट हाउस, सुपर एचआईजी, एचआईजी सेगमेंट के फ्लैट्स होंगे. नरेला, रोहिणी, जसौला के अलावा इस बार द्वारका के फ्लैट्स पर सबकी नजर रहेगी. 

डीडीए पहले कभी इतने महंगे फ्लैट्स लेकर नहीं आया है. इससे पहले 2019 की स्कीम में वसंत कुंज के एचआईजी फ्लैट्स की कीमत 1.7 करोड़ रुपये थी. डीडीए स्कीम के तहत द्वारका सेक्टर 19बी में फ्लैट्स का काम लगभग पूरा हो गया है. इस स्कीम में द्वारका के अलावा नरेला, रोहिणी और जसौला में फ्लैट्स लोगों को उपलब्ध होंगे. इनमें 1100 के करीब लग्जरी फ्लैट्स, 14 पेंट हाउस, 170 के करीब सुपर एचआईजी फ्लैट्स और 930 के करीब एचआईजी फ्लैट्स होंगे. 11 रेजिडेंशियल टावर में यह फ्लैट्स होंगे. जबकि 7 टावर में पेंट हाउस होंगे. हर टावर में दो-दो पेंट हाउस रहेंगे. 

ये भी देखें- 

डीडीए की इस स्कीम में सबसे बड़ा आकर्षण पेंट हाउस होंगे. दो लेवल के इन पेंट हाउस में टेरिस गार्डन होगा. चार बेडरूम में अटैच बाथरूम होंगे. साथ ही इनमें फर्नीचर का काम भी होगा. सुपर एचआईजी फ्लैट्स में तीन बेडरूम में अटैच बाथरूम की सुविधा होगी. इनमें सर्वेंट क्वॉर्टर भी होंगे. यह ग्रीन बिल्डिंग के कॉन्सेप्ट पर तैयार किए जा रहे हैं. इनमें सोलर हीटिंग, ऑर्गेनिक वेस्ट डिस्पोजल और बिजली की कम खपत जैसी खासियत भी होंगी. 

हालांकि डीडीए की पिछली तीन स्कीमों को लगातार खराब रिस्पॉन्स मिला है. 2019 में डीडीए के करीब 18000 फ्लैट्स की स्कीम उतारी थी, लेकिन इसे बहुत अच्छा रिस्पॉन्स नहीं मिला. नरेला इलाके में खासकर हाउसिंग स्कीम के तहत मील घर को बड़ी संख्या में खरीददारों ने डीडीए को सरेंडर कर दिया था. डीडीए के मुताबिक इसकी बड़ी वजह नरेला जैसे इलाकों में ट्रांसपोर्ट और इंफ्रा उचित व्यवस्था नहीं होना था. 

डीडीए के मुताबिक हाउसिंग स्कीम को सफल बनाने के लिए अथॉरिटी जबरदस्त विज्ञापन और ब्रांडिंग पर खर्चा करेगी. इसके अलावा पिछले हाउसिंग स्कीम से सबक लेते हुए 2020 हाउसिंग स्कीम में ज्यादा फैसिलिटीज या सुविधाएं दी जाएंगी जिसमें पार्किंग एक बड़ी व्यवस्था होगी. डीडीए का लक्ष्य है कि अगले 4-5 वर्षों में 60,000 फ्लैट्स दिल्ली में मुहैया कराए जाएं जिससे दिल्ली में घर के सपने को लोग साकार कर सकें.