close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दिल्लीः पश्चिम विहार इलाके में सगी बुजुर्ग बहनों की गला दबाकर हत्या, घर में बिखरा मिला सामान

पुलिस ने बताया की दोनों बहनों को गला दबाकर मारा गया है. इन दोनों बहनों में बड़ी बहन की पहचान उषा पाठक (78) के रूप में हुई और छोटी बहन की पहचान आशा पाठक (75) के रूप में हुई है.

दिल्लीः पश्चिम विहार इलाके में सगी बुजुर्ग बहनों की गला दबाकर हत्या, घर में बिखरा मिला सामान
दोनों बहनें पेशे से रिटायर्ड प्रोफेसर थी. पुलिस के मुताबिक बदमाशों ने घर में फ्रेंडली एंट्री की थी.

नई दिल्लीः देश की राजधानी दिल्ली में सीनियर सिटीजन भी अब सुरक्षित नहीं है. पश्चिमी दिल्ली में गुरुवार को दो सगी बुर्जुग बहनों की गला दबाकर हत्या कर की वारदात सामने आई. दोनों बहनें पेशे से रिटायर्ड प्रोफेसर थी. पुलिस के मुताबिक बदमाशों ने घर में फ्रेंडली एंट्री की थी. वारदात के बाद पुलिस को घर में सामान बिखरा पड़ा मिला. दिल्ली पुलिस के सीपी, आउटर (बाहरी दिल्ली) सेजू पी कुरुविल्ला के मुताबिक पश्चिम विहार इलाके में दोपहर तक़रीबन 3 बजे पुलिस को कॉल मिली कि दोनों बहनें घर में बेसुध हालत में है. पुलिस मौके पर पहुंची और देखा की दोनों की मौत हो चुकी थी.

पुलिस ने बताया की दोनों बहनों को गला दबाकर मारा गया है. इन दोनों बहनों में बड़ी बहन की पहचान उषा पाठक (78) के रूप में हुई और छोटी बहन की पहचान आशा पाठक (75) के रूप में हुई है. मृतक बड़ी बहन ऊषा हापुड़ गर्ल्स कॉलेज में प्रोफेसर रह चुकी है और छोटी बहन आशा पाठक कृषि भवन में लाइब्रेरियन थी. दोनों बहनें पिछले करीब 30 सालों से यहां पर रह रही थी और दोनों के माता-पिता की मौत हो चुकी है.

मृतक के घर के सामने रहने वाले शख्स ने बताया की दोपहर में रानी नाम की नौकरानी हमारे घर काम करने के बाद सामने पाठक बहनों के पास गई और उसने देखा की घर का दरवाजा खुला हुआ था, दोनों जमीन पर पड़ी थी, तुरंत पुलिस को सूचित किया गया.

पड़ोसी ने बताया कि दोनों हर किसी से मिलती-जुलती रहती थी. घर का खर्चा पेंशन से चलता था अभी कुछ दिनों पहले जब सोसाईटी में गणेश पूजा थी तब दोनों बहनें हमारे साथ थी. ऐसा बताया जा रहा है कि बुधवार को घर में प्लम्बर काम करने आया था. पुलिस को शक उसी पर ही लग रहा है. घर का सामना बिखरा पड़ा था और पुलिस को शक है लूटपाट के बाद ही इस हत्या को अंजाम दिया गया हो.

पुलिस ने इन बहनों की फरीदाबाद में रहने वाली भतीजी को जानकारी दे दी है और अब पुलिस सीसीटीवी के जरिये हत्यारों तक पहुंचने की कोशिश कर रही है. आपको बता दें कि अभी एक महीने पहले ही पश्चिम विहार की ही पॉश कॉलोनी मियांवली में सीनियर सिटीजन का डबल मर्डर हुआ था, जिसे दिल्ली पुलिस अभी तक सुलझ नहीं पाई है. ऐसे में अब फिर से सीनियर सिटीजन के मर्डर ने पुलिस के सीनियर सिटीजन के प्रति कितनी सजग है उसके दावों की पोल खोल दी है.