दिल्ली विधानसभा चुनाव: पिछले 5 सालों में इतनी बढ़ गई CM केजरीवाल की संपत्ति

मुख्यमंत्री के पास नकदी और एफडी 2015 में 2.26 लाख रुपये की थी जो 2020 में बढ़कर 9.65 लाख हो गई. 

दिल्ली विधानसभा चुनाव: पिछले 5 सालों में इतनी बढ़ गई CM केजरीवाल की संपत्ति
(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: आम आदमी के नाम पर राजनीतिक गलियों से गुजरते हुए सत्ता की कुर्सी तक पहुंचने वाले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की संपत्ति में पिछले 5 साल में 1.3 करोड़ का इजाफा हो रहा है. नई दिल्ली सीट से नामांकन दाखिल करने के दौरान दिए गए एफिडेविट (हलफनामे) में केजरीवाल ने अपनी संपत्ति का जो ब्योरा दिया है उससे यह जानकारी सामने आई है. इस एफिडेविट के मुताबिक सीएम केजरीवाल के पास 3.4 करोड़ रुपये की संपत्ति है और साल 2015 के मुकाबले इस संपत्ति में 1.3 करोड़ रुपये का इजाफा हुआ है. 

इस हलफनामे के मुताबिक इस वक्त उनके पास 3.4 करोड़ रुपये की संपत्ति है जबकि 2015 में उनकी कुल संपत्ति 2.1 करोड़ रुपये की थी. 

सीएम केजरीवाल की पत्नी सुनीता केजरीवाल के पास 2015 में नकदी और सावधि जमा (FD) 15 लाख रुपये की थी जो 2020 में बढ़कर 57 लाख रुपये हो गया. पार्टी के एक पदाधिकारी ने कहा कि स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति लाभ (वीआरएस) के तौर पर सुनीता केजरीवाल को 32 लाख रुपये और एफडी मिले बाकि उनका बचत धन है. 

मुख्यमंत्री के पास नकदी और एफडी 2015 में 2.26 लाख रुपये की थी जो 2020 में बढ़कर 9.65 लाख हो गई. उनकी पत्नी की अचल संपत्ति (Fixed Assets) के मूल्यांकन में कोई बदलाव नहीं हुआ है जबकि केजरीवाल की अचल संपत्ति 92 लाख रुपये से बढ़कर 177 लाख रुपये हो गई. 

पार्टी के पदाधिकारियों ने बताया कि 2015 में केजरीवाल की जितनी अचल संपत्ति थी, उसके भाव में बढोतरी के कारण यह यह वृद्धि हुई है.

ये वीडियो भी देखें:

(इनपुट एजेंसी पीटीआई से भी)