दिल्ली: लापता शख्स की शव अस्पताल की मोर्चरी में मिला

परिवार दिल्ली से लेकर गुरुग्राम तक खाक छान रहे थे. सभी अस्पताल  और पुलिस थाने में घूम रहे थे. उसका शव दो राज्यों की पुलिस में सामंजस्य की कमी के चलते पिछले 6 दिनों से सफदरजंग हॉस्पिटल की मोर्चरी में पड़ी हुई थी. 

दिल्ली: लापता शख्स की शव अस्पताल की मोर्चरी में मिला
मृतक की फाइल तस्वीर.

नई दिल्ली: 45 साल के जिस नौशाद को उनके परिवार वाले 1 सप्ताह से ढूंढ रहे थे, उसका शव अस्पताल में मिला है. परिवार दिल्ली से लेकर गुरुग्राम तक खाक छान रहे थे. सभी अस्पताल  और पुलिस थाने में घूम रहे थे. उसका शव दो राज्यों की पुलिस में सामंजस्य की कमी के चलते पिछले 6 दिनों से सफदरजंग हॉस्पिटल की मोर्चरी में पड़ी हुई थी. वहीं वसंत कुंज थाने की पुलिस टीम ने एक डेड बॉडी की पहचान के लिए अखबार में विज्ञापन डाला था. परिवार वालों को पता चल गया कि यह डेड बॉडी उसके रिश्तेदार की है. मामला फिलहाल दिल्ली के वसंत कुंज साउथ थाना इलाके का है.

हापुड़ के रहने वाले 45 साल के नौशाद की डेड बॉडी मिली थी. नौशाद के मामा मुस्तकीम खान ने बताया कि भांजे की डेड बॉडी तो पुलिस को मिल गई, लेकिन जिस बाइक से वह आया था वह बाइक, मोबाइल और उसका पर्स गायब है. परिवार वालों के अनुसार हापुड़ का रहने वाला नौशाद फैब्रिकेटर का काम करता है. इसकी एक साइट गुरुग्राम में चल रहा है. 14 तारीख को वह गुड़गांव गया था अपने स्टाफ को पेमेंट देने के बाद वह बाइक से छतरपुर की तरफ आया. तभी से वह लापता था.

परिवार वालों को तब भी जानकारी नहीं मिली थी. नौशाद की डेड बॉडी 15 तारीख को वसंत कुंज थाना इलाके में कूड़े के पास मिली थी. पहचान नहीं होने के कारण उसकी डेड बॉडी को हॉस्पिटल के मोर्चरी में रखवा दिया गया था.

इधर, जब नौशाद के वर्कर को कुछ काम पड़ा तो उन लोगों को उन लोगों ने उनके घर वालों संपर्क किया. उसके बाद फिर नौशाद की खोजबीन शुरू हुई. पहले लोग गुरुग्राम पहुंचे. वहां से फिर पता चला कि नौशाद का मोबाइल का लोकेशन छतरपुर में आया. फिर छतरपुर पहुंचे. नौशाद के मामा ने बताया कि उनके परिवार वाले महरौली थाने में गए. लिखित शिकायत दी नौशाद का फोटो भी दिया, लेकिन उन्होंने सिर्फ खानापूर्ति करके आगे कोई जानकारी मिलेगी तो बता दिया जाएगा यह कहकर गुरुग्राम वापस भेज दिया. 

उसके बाद यह लोग गुड़गांव के अस्पताल और थाने में पहुंचे और दिल्ली के कई इलाकों में तलाशी ली. लेकिन नौशाद के बारे में जानकारी नहीं मिली. आखिर जानकारी मिलती कहां उसकी डेड बॉडी मोर्चरी में पड़ी हुई थी. लेकिन वसंत कुंज थाने के द्वारा एक अखबार में विज्ञापन दिया गया पहचान के लिए. और वही से घरवालों को पता चला. आज नौशाद की डेड बॉडी का पोस्टमार्टम किया जा रहा है. अब उसका मोबाइल, पर्स और बाइक का पता लगाने के साथ साथ नौशाद की हत्या करने वाले को भी पता लगाना होगा पुलिस को.

ये भी देखें-: