दिल्ली : लड़के ने किया आत्महत्या का फेसबुक LIVE, इस तरह बच सकी जान

अंकित वर्मा ने एक शख्स ने करियर में परेशानी के कारण आत्महत्या करने की कोशिश की और उसका लाइव सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर शेयर किया. 

दिल्ली : लड़के ने किया आत्महत्या का फेसबुक LIVE, इस तरह बच सकी जान
युवक की दोस्त ने सबसे पहले फेसबुक पर लाइव वीडियो देखा, जिसके बाद उसके परिजनों को सूचित किया गया. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

नई दिल्ली : नौकरी में प्रमोशन न मिलने और प्‍यार में धोखा खाने से एक युवक इतना अवसाद में आया कि उसने आत्‍महत्‍या करने की ठान ली और इस घटना का फेसबुक लाइव करने लगा, लेकिन जैसे ही उसके एक दोस्‍त ने फेसबुक पर यह लाइव देखा तो उसके बड़े भाई को फोन कर सूचना दी. इसके बाद किसी तरह इस युवक को सुसाइड करने से रोका जा सका. यह पूरा मामला 26 फरवरी का बताया जा रहा है. 

टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर के मुताबिक, 26 वर्षीय अंकित (परिवर्तित नाम) दिल्ली के आश्रम इलाके में अपने माता-पिता और एक भाई के साथ रहता है. वह काफी लंबे समय से ऑफिस में अच्छा मौका ना मिलने और प्रेम संबंधों में धोखा खाने के कारण परेशान चल रहा था. जिस वक्त अंकित ने आत्महत्या करने का फैसला किया, उस वक्त घर पर कोई भी मौजूद नहीं था. 

पढ़ें : मेडिकल स्‍टूडेंट ने की आत्‍महत्‍या, सुसाइड नोट में लिखा, 'सॉरी पापा, मैं लड़ते-लड़ते थक गई हूं'

दोस्त ने देखा फेसबुक लाइव तो भाई को बताया
जिस वक्त अंकित नाम का शख्स फेसबुक पर अपनी आत्महत्या का लाइव करने में लगा हुआ था, उस वक्त उसकी दोस्त रीना ने यह देख लिया और अंकित के भाई से संपर्क किया. अंकित ने 1.30 बजे फेसबुक लाइव शुरू किया और अपनी परेशानियों के बारे में बताना शुरू किया. अंकित ने कहा कि वह लंबे समय से अपने काम में कामयाबी ना मिलने के कारण काफी परेशान है, इसलिए यह कदम उठा रहा है. वीडियो देखते ही अंकित के भाई से संपर्क किया. 

यह भी पढ़ें : इंसाफ की खातिर महीनों से दर-दर भटक रहा है ये पूर्व सैनिक, टूटी हिम्मत तो मांगी 'इच्छामृत्यु'

पड़ोसी ने की मदद
रीना के फोन करते ही अंकित के बड़े भाई अनिकेत ने पड़ोसी को फोन करके मदद मांगी. अनिकेत के फोन करने के बाद तुंरत उनके पड़ोसी वहां पर पहुंचे. पड़ोसी का कहना है कि जिस वक्त वह घर पर पहुंचे तो अंकित कुर्सी पर चढ़कर फंखे से लटकर आत्महत्या करने की कोशिश कर रहा था. जब तक वो लोग कुछ कर पाते अंकित फंदे पर झूल गया. आनन-फानन में पड़ोसियो ने अंकित को पंखे से उतारकर स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया. 

अस्पताल के डॉक्टरों ने पाया कि वर्मा में अभी भी कमजोर पल्स थी. हालांकि कुछ देर के इलाज और रख-रखाव के बाद डॉक्टर अंकित को रिकवर करने में कामयाब रहे. फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज कर अंकित और उसके परिजनों से पूछताछ कर मामले की छानबीन शुरू कर दी है.