close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दिल्लीः चाइनीज मांझे से कटी बच्चे की गर्दन, खून से हुआ लथपथ

जिस वक्त यह हादसा हुआ, उसके दूसरे ही पल एक और ऐसी घटना सामने आई. जहां अक्षरधाम फ्लाई ओवर के पास अचानक एक अन्य बाइक सवार शख्स की गर्दन पर एक पतंग और यही चाईनीज मांझा आकर फंस गया

दिल्लीः चाइनीज मांझे से कटी बच्चे की गर्दन, खून से हुआ लथपथ
अक्षरधाम फ्लाई ओवर के पास चाइनजी मांझे की चपेट में आने से एक बच्चे की गर्दन कट गई.

नई दिल्लीः दिल्ली के अक्षरधाम मंदिर के पास 15 अगस्त की शाम करीब 5 बजे पतंग के मांझे से एक बच्चे की गर्दन कट गई. बच्चा अपने माता-पिता के साथ बाइक पर आगे बैठकर जा रहा था तभी वो पतंग के मांझे की चपेट में आ गया. वीडियो में साफ देखा जा सकता है बच्चे की गर्दन से खून निकल रहा है और उसके माता पिता रूमाल से खून रोकने की कोशिश कर रहे हैं. हालांकि घटना में बच्चे की जान जाने से बच गई, लेकिन घटना के बाद बच्चा काफी सहम गया है. मौके पर कई पतंग का कटा हुआ मांझा भी मौजूद दिखा. 

सबसे चौंकाने की बात यह है की सड़क पर जो मांझा मिला वह चाइनीज़ मांझा था. जो कोर्ट के आदेश पर पूरी तरह से प्रतिबंधित है और प्रतिबंध के बाद भी दिल्ली में इसका बेजा इस्तेमाल हो रहा है. लोग मांझे को बेच और खरीद रहे हैं. बता दें यह पहली बार नहीं है जब चाइनीज मांझे के चलते किसी के घायल होने या किसी की जान जाने की खबर सामने आई हो, इससे पहले भी कई बार चाइना द्वारा निर्मित इन मांझों से लोगों की जान जाने की खबर सामने आ चुकी है.

देखें लाइव टीवी

बिजनौर: कलेक्‍ट्रेट में सिपाही ने ड्यूटी के दौरान राइफल से खुद को गोली मारकर किया सुसाइड

बता दें जिस वक्त यह हादसा हुआ, उसके दूसरे ही पल एक और ऐसी घटना सामने आई. जहां अक्षरधाम फ्लाई ओवर के पास अचानक एक अन्य बाइक सवार शख्स की गर्दन पर एक पतंग और यही चाईनीज मांझा आकर फंस गया, लेकिन युवक को जैसे ही अपनी गर्दन पर मांझा महसूस हुआ उसने तुरंत बाइक की रफ्तार कम कर दी, जिससे उसकी जान जाते-जाते रह गई. 

दिल्ली में दर्दनाक हादसा, कार में जलकर मां और दो बच्चियों की मौत

वहीं जब दिल्ली पुलिस से मामले को लेकर सवाल किया गया तो दिल्ली पुलिस का कहना था कि उन्हें इस तरह की किसी भी घटना की जानकारी नहीं मिली है. वहीं घटनाओं को देखते हुए सवाल यह उठता है कि जब चाईनीज मांझे पर रोक लगी है तो बाबजूद उसके उसकी बिक्री कैसे हो रही है.