close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

छात्रों की स्कॉलरशिप को इंस्टीट्यूट का प्रोग्रामर करता रहा गबन, 50 लाख के घोटाले का खुलासा

सेंटर फॉर कल्चरल रिसोर्सेज एंड ट्रेनिंग इंस्टीटूट को हर साल 5 करोड़ रुपये तक की स्कॉलरशिप 10 से 14 साल के बच्चों को देनी होती है. 

छात्रों की स्कॉलरशिप को इंस्टीट्यूट का प्रोग्रामर करता रहा गबन, 50 लाख के घोटाले का खुलासा
इस घोटाले के मामले में पुलिस ने संदीप कुमार और इंस्टीटूट में ही काम करने वाले कौशिक सिन्हा रॉय को गिरफ्तार किया है.

नई दिल्लीः सेंटर फॉर कल्चरल रिसोर्सेज एंड ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट (CCRT) में स्कॉलरशिप घोटाला सामने आया है. इस मामले में इंस्टीटूट के ही 2 कर्मचारियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. बच्चों की कला पर खर्च होने वाले स्कॉलरशिप के 50 लाख रुपये का गबन किए गए हैं. पकड़े गए आरोपियों ने बच्चों की कला पर खर्च होने वाले पैसों को अपने जानने वाले के एकाउंट में ट्रांसफर किया था. आरोपी संदीप कुमार इस पूरे गिरोह का मास्टरमाइंड है और वह पिछले दो सालों में सैंकड़ों बच्चों की स्कॉलरशिप के करीब 50 लाख पर हाथ साफ कर चुका है.

सेंटर फॉर कल्चरल रिसोर्सेज एंड ट्रेनिंग इंस्टीटूट को हर साल 5 करोड़ रुपये तक की स्कॉलरशिप 10 से 14 साल के बच्चों को देनी होती है. ताकि बच्चों की प्रतिभा को उभारा जा सके. लेकिन आरोपी संदीप कुमार और उसके साथियों ने बच्चों को दी जा इस रही रकम पर ही कब्जा कर लिया.

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच के अनुसार आरोपी संदीप कुमार सेंटर फॉर कल्चरल रिसोर्सेज इंस्टीटूट में कंप्यूटर प्रोग्रामर का काम करता था. कंप्यूटर में मास्टर्स होने के चलते कॉन्ट्रैक्ट बेस पर काम करने वाला संदीप ने स्कॉलरशिप लेने वाले बच्चो के एकाउंट्स डिटेल्स के बदले अपने ही रिश्तेदारों और दोस्तो की बैंक से जुड़ी जानकारी डाल देता था. इससे बच्चों को मिलने वाली स्कॉलरशिप की रकम बच्चों के खाते में ट्रांसफर ना होकर सदीप के खातों में चली जाती थी. इसके बदले संदीप अपने दोस्तों या रिश्तेदारों को 10% पैसा देता था बाकी खुद रख लेता था.

फरवरी में सेंटर फॉर कल्चरल रिसोर्सेज इंस्टीटूट के डायरेक्टर की तरफ से स्कॉलरशिप में होने वाली इस गड़बड़ी के बारे में दिल्ली पुलिस को एक शिकायत दी गई थी. जिसमे ये बताया गया था कि छात्रों के देने वाली स्कॉलरशिप में  घोटाला हुआ है. जिसमे करीब 50 लाख रुपये की धोखाघड़ी हुई है. जिसके बाद केस दर्ज किया गया था.

इस घोटाले के मामले में पुलिस ने संदीप कुमार और इंस्टीटूट में ही काम करने वाले कौशिक सिन्हा रॉय को गिरफ्तार किया है. साथ ही 4 अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार किया गया है. कल्चरल रिसोर्सेज इंस्टीटूट द्वारा स्कॉलरशिप ले रहे हर बच्चे को करीब 12 हज़ार रुपये देने का प्रावधान है.