दिल्ली लॉकडाउन: निजामुद्दीन मरकज के सात सदस्यों के खिलाफ क्राइम ब्रांच ने दर्ज की FIR

निजामुद्दीन एसएचओ मुकेश वालिया की शिकायत पर गुरुवार को ये मुकदमा दर्ज किया गया है.

दिल्ली लॉकडाउन: निजामुद्दीन मरकज के सात सदस्यों के खिलाफ क्राइम ब्रांच ने दर्ज की FIR
फाइल फोटो

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच (Delhi Police Crime Branch) ने निजामुद्दीन मरकज (Nizamuddin Markaz) मामलें में कार्रवाई करते हुए मुकदमा दर्ज कर लिया है. निजामुद्दीन एसएचओ मुकेश वालिया की शिकायत पर गुरुवार को ये मुकदमा दर्ज किया गया है. पुलिस ने लॉकडाउन के दौरान आदेशों के उल्लंघन करने और महामारी अधिनियम एक्ट के तहत 7 लोगों पर एफआईआर दर्ज की है. 

शिकायत में मुकेश वालिया ने बताया है कि 21 मार्च को दिल्ली पुलिस ने मरकज के लोगों से संपर्क साध था और उन्हें देश में आई स्वास्थ्य आपदा के बारे अगाह करते हुए कार्यक्रम को कुछ समय के लिए टालने के लिए कहा था. उन्होंने बताया कि विदेश से आए लोगों को तुरंत वापस भेजने की भी अपील की गई थी. लेकिन मरकज के लोगों ने मनमानी की और हमारी बात नहीं मानी और अपना कार्यक्रम जारी रखा. 

पुलिस ने बताया कि हमारे हाथ व्हाट्सएप पर फैलाया जा रहा एक ऑडियों संदेश मिला है, जिसके जरिए मरकज के मौलाना मोहम्मद साद लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग के नियम को न मानने को कह रहा है और लोगों से मरकज में इकट्ठा होने के लिए बोल रहा है. बता दें कि मोहम्मद साइ ही तबलीगी जमात का प्रमुख है.

ये भी पढें:- जनधन खाताधारकों के लिए अच्छी खबर: PM मोदी ने बताया कब किसके खाते में आएंगे पैसे

इसी बीच देश में सम्पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा हो गई. जिसके बाद निजामुद्दीन थाने में मरकज के लोगों और मौलाना मोहम्मद साद के साथ पुलिस ने एक मीटिंग की थी. जिसमें एक बार फिर लोगों से बचाव के लिए मास्क और सेनिटाइजर का उपयोग की अपील पुलिस ने की थी. लेकिन फिर भी किसी ने पुलिस की बात नहीं मानी जिसके बाद 28 मार्च को मरकज को एक नोटिस जारी कर चेतावनी दी थी. लेकिन उसका भी कोई जवाब नहीं दिया. एसएचओ मुकेश वालिया ने गुरुवार को मीटिंग में मौजूद सभी लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है. बता दें कि मरकज के मौलाना के खिलाफ दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल की अपील पर पुलिस ने पहले ही एक एफआईआर दर्ज कर ली है.

लाइव टीवी देखें:-