दिल्ली: रोहिणी इलाके में गाड़ी में मिली डॉक्टर और उनकी दोस्त की लाश

सुदीप्ता मुखर्जी रोहिणी में ही निर्वाण नाम का नर्सिंग होम की एमडी हैं. वहीं ओमप्रकाश कुकरेजा उसी नर्सिंग होम में डॉक्टर हैं.

दिल्ली: रोहिणी इलाके में गाड़ी में मिली डॉक्टर और उनकी दोस्त की लाश
62 साल के डॉ.ओम प्रकाश कुकरेजा की लाश एक गाड़ी में मिली.

नई दिल्ली: दिल्ली के रोहिणी सेक्टर 13 में बुधवार सुबह एक दर्दनाक वारदात सामने आई, पुलिस को सुबह करीब 07:30 बजे कॉल मिली कि एक गाड़ी में दो डेड बॉडी पड़ी है और पुरुष के हाथ में रिवॉल्वर है. पुलिस की टीम मौके पर पहुचीं, जांच में पता चला ये बॉडी सेक्टर 15 में अपना नर्सिंग होम चलाने वाले डॉक्टर ओमप्रकाश कुकरेजा (62) और उस अस्पताल की डायरेक्टर सुदिप्ता मुखर्जी (55) की है. जांच में शुरुआती तौर पर लग रहा है कि पहले डॉक्टर कुकरेजा ने सुदिप्ता के चेस्ट में गोली मारी उसकी हत्या की और फिर खुद के कनपटी पर गोली मारकर ख़ुदकुशी कर ली.

शुरुआती तौर पर पुलिस को पता लगा है डॉक्टर कुकरेजा और डायरेक्टर सुदिप्ता दोनों अलग अलग शादीशुदा थे, सुदिप्ता का एक बेटा विदेश में रहता है और कुकरेजा अपनी पत्नी और एक बेटे के साथ रोहिणी में रहते है और एक बेटा विदेश में रहता है. अब तक की जांच में पता लगा है दोनों के बीच पर्सनल रिलेशन थे, अफेयर की खबरे थी. मंगलवार रात ये दोनों कही शादी में गए थे और सुबह तड़के ये अपनी सोसाइटी के बाहर ही गाड़ी में बैठे थे,.

डॉक्टर कुकरेजा ने अपनी लाइसेंसी रिवॉल्वर से इस वारदात को अंजाम दिया है. फ़िलहाल पुलिस ने बॉडी को पोस्टमोर्टम के लिए भेज दिया है. विदेश में इनके बेटों को खबर कर दी गई है, अस्पताल के लोगों और परिवार के लोगों से पुछताछ की जा रही है, उसके बाद ही इस वारदात की असल वजह साफ़ हो पाएगी.

इस मामले में डीसीपी रोहिणी एसडी मिश्रा ने बताया, पुलिस को सुबह 7 बजे के करीब सूचना मिली, डॉक्टर ओम प्रकाश कुकरेजा ने सुदीप्ता मुखर्जी को चेस्ट में गोली मारी फिर खुद को गोली मारी. ओम प्रकाश और सुदीप्ता मुखर्जी दोनों शादीशुदा है. ओम प्रकाश कुकरेजा एक बेटा ओर एक बेटी है. बेटा देहरादून में रहता है, बेटी दिल्ली में ही रहती है. उनकी पत्नी दिव्यांग हैं. वहीं सुदीप्ता मुखर्जी की एक बेटी है जो विदेश में रहती है. शुरुआती जांच में दोनों के बीच अफ़ेयर का मामला सामने आया है. सुदीप्ता मुखर्जी अस्पताल में एमडी थी, जोकि अस्पताल में एडमिन ओर मैनजमेंट देखती थी. कई सालों से दोनों साथ काम करते थे.'